क्त्रन्हृष्ट॥ढ्ढ : चुटिया से अपहृत तीनों छात्रों का छठे दिन भी कोई सुराग नहीं मिल सका. तीनों छात्र कहां व किस हाल में हैं, यह न तो परिजनों को पता है और न ही रांची पुलिस को. छात्रों की सकुशल बरामदगी व अपहर्ताओं की तलाश में जिन संभावित ठिकानों पर पुलिस ने छापेमारी की, वहां कुछ भी हासिल नहीं हो सका. लिहाजा, पुलिस की कार्यशैली कको देखते हुए परिजनों में आक्रोश दिख रहा है. परिजन खुद अपने लाडले की तलाश में जंगलों की खाक छान रही है.

नगड़ी से मिला सीसीटीवी फुटेज

इधर, पुलिस को नगड़ी के समीप से सीसीटीवी का जो फुटेज मिला है उसके मुताबिक, लड़कों की आल्टो कार रिंग रोड में खड़ी हुई. इसके बाद एक स्कॉरपियो व एक छोटी गाड़ी भी दिखी. गाड़ी से उतरकर कुछ लोग आल्टो के पास आए, फिर उन तीनों छात्रों को अपनी गाड़ी में बैठाकर चल दिए. इस फुटेज की बेसिस पर पुलिस तीनों छात्रों की तलाशी के लिए लगातार छापेमारी कर रही है. हालांकि, उनका सुराग पाने के लिए दूसरे स्त्रोतों से भी जानकारी हासिल करने की भी कोशिश की जा रही है.

हर हाल में छात्रों को खोज लाओ

पुलिस की नाकामी और धीमी गति से काम करते देख नगर विकास मंत्री सीपी सिंह ने रांची पुलिस से कहा कि जल्द से जल्द पार्टी के कार्यकर्ता मदन सिंह के बेटे समेत उसके दोस्तों को खोजें. उन छात्रों को खोजने में जिसकी भी मदद लेनी है लें. सीपी सिंह ने कहा कि पुलिस अपना काम कर रही है.

अगवा छात्रों के परिजनों के घर खामोशी

चाहे शिवम सिंह का घर हो, गौरव सिंह का घर हो या अभिषेक उर्फ शैंकी सिंह का घर हो. तीनों घरों में खामोशी छाई हुई है. खामोशी ऐसी कि उनलोगों को विश्वास नहीं हो रहा है कि उनके बेटे कहां चले गए?गौरतलब हो कि पिछले मंगलवार को चुटिया से तीन छात्र लापता हो गए थे. लापता होने के बाद तीनों की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी. बाद में रिंग रोड में ऑल्टो कार बरामद होने से नगड़ी ओपी में अपहरण का मामला दर्ज किया गया था.