स्टेडियम में खिलाडि़यों के लिए नहीं मुकम्मल इंतजाम

कई खेलों के लिए कोच तक की नहीं है नियुक्ति

Meerut. एशियन गेम्स में मेरठ के खिलाडि़यों ने कई खेलों में अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाया है. शहर में खिलाडि़यों को मुकम्मल सुविधाएं न मिलने के बावजूद भी खिलाडि़यों ने अपनी मेहनत और टैलेंट के दम पर देश दुनिया में मेरठ का झंडा बुलंद किया है. समूचे देश में मेरठ शहर की पहचान स्पो‌र्ट्स सिटी के रूप में है. शहर में एक मात्र कैलाश प्रकाश स्पो‌र्ट्स स्टेडियम में कई खेलों के लिए सुविधाएं नहीं है. बावजूद इसके, प्लेयर्स ने अपने लोहा मनवाया है.

कई खेलों में निकले दिग्गज

स्पो‌र्ट्स हब बने शहर से कई खेलों में खिलाडि़यों ने दुनिया में अपना कीर्तिमान स्थापित किया है. इनमें क्रिकेट, हॉकी, एथलेटिक्स, डिस्कस थ्रो के अलावा जूडो, बैडमिन्टन सहित कई खेलों में इस शहर ने अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी दिए हैं, लेकिन कैलाश प्रकाश स्टेडियम में विश्व स्तरीय खिलाडि़यों को तैयार करने के लिए सुविधाओं का अभ्ाव है.

'एकलव्य' बने खिलाड़ी

कैलाश प्रकाश स्टेडियम में कई खेलों की स्थिति यह है कि यहां बीते दो साल से कोच की नियुक्ति नहीं है, जिससे खिलाड़ी खुद ब खुद एकलव्य जैसे प्रैक्टिस करते हैं. आलम यह है कि तीरंदाजी में पिछले दो साल से कोच की नियुक्ति नहीं है. खिलाड़ी रोज प्रैक्टिस के लिए पहुंचते हैं. धनुष-बाण लेकर आए खिलाड़ी कोच के बिना घंटों प्रैक्टिस करके चले जाते हैं.

झाड़ू तक लगाते हैं खिलाड़ी

तीरंदाजी में राष्ट्रीय स्तर पर कई प्रतियोगिताओं में जलवा बिखेर चुके खिलाड़ी भी शाम को यहां प्रैक्टिस के लिए आते हैं. हालत यह है कि उन्हें खेलने से पहले यहां झाडू तक लगानी पड़ती है. इसके बाद ये खिलाड़ी बिना कोच के ही प्रैक्टिस शुरू कर देते हैं. ये सिलसिला दो साल से चल रहा है. कैलाश प्रकाश स्पो‌र्ट्स स्टेडियम में कितने क्षेत्रीय क्रीड़ा अधिकारी आए और गए, लेकिन एक अदद तीरंदाजी कोच नहीं मिला.

इन खेलों की प्रैक्टिस

बॉक्सिंग

शूटिंग

हॉकी

नेट बॉल

फुटबाल

क्रिकेट

स्वीमिंग

जूडो

वेट लिफ्टिंग

वोशू

कबड्डी

रेसलिंग

बॉस्केट बॉल

आचर्री

हॉस्टल का अभाव

कैलाश प्रकाश स्टेडियम में खिलाडि़यों के लिए रहने के लिए केवल कुछ ही खेल में हॉस्टल की व्यवस्था है. इस कारण से खिलाडि़यों को स्टेडियम से बाहर अलग से किराये में कमरा लेकर रहना पड़ता है.

महज इनमें सुविधा

बाक्सिंग

क्रिकेट

रेसलिंग

दिया गया है टेंडर

बीते दिनों ही कैलाश प्रकाश स्पो‌र्ट्स स्टेडियम में नयी मशीन व स्पो‌र्ट्स सामग्री के लिए टेंडर जारी किया गया. जल्द ही खिलाडि़यों को नई सुविधाएं मिल सकती हैं.

विदेशों में बिखेरा जलवा

मेरठ के खिलाडि़यों ने देश में ही नही बल्कि विदेश तक में नाम रोशन किया है. इनमें भुवनेश्वर कुमार, करन शर्मा, अलका तोमर, मनु अत्री, सैयद फैसल, शारदुल विहान आदि ने विश्व स्तर पर अपनी पहचान बनाई है.

हमारी ओर से लगातार खेलों को बढ़ावा देने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं. जल्द ही खिलाडि़यों को कुछ नई सुविधाएं मिल सकती हैं.

आले हैदर, जिला क्रीड़ा अधिकारी