कैंट के फ्लैश बट प्लांट में आएगी फ्लैश बट वेल्डर मशीन

बढे़गी पटरियों की मजबूती और बट प्लांट की क्षमता

Meerut . सर्दियों की शुरुआत के साथ ही रेलवे को अपनी पटरियों के चटकने की समस्या सताने लगी है. भीषण सर्दी में पटरियों के जोड़ ना खुलें और यात्रियों का सफर पूरी तरह से सुरक्षित रहे इसलिए रेलवे कैंट रेलवे स्टेशन स्थित बट प्लांट की क्षमता को दोगुनी करने जा रहा है. इसके लिए बकायदा अमेरिका से नई आधुनिक बट वेल्डिंग मशीन आयात की जा रही हैं.

बट वेल्डिंग टनल का होगा निर्माण

कैंट स्टेशन स्थित फ्लैश बट प्लांट पटरियां निर्मित करने का एक महत्वपूर्ण सेंटर है. इस प्लांट में सिलीगुड़ी की मशीनों के सहारे पटरियों का निर्माण कर महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश, कोलकाता तक भेजा जाता है, लेकिन सरकार द्वारा ट्रेनों की सुरक्षा के लिए चल रहे पटरियों के बदलने के काम के चलते प्लांट का काम अधिक बढ़ गया है. इसलिए प्लांट की क्षमता वृद्धि के लिए प्लांट में आधुनिक बट वेल्डिंग टनल का निर्माण कराया जाएगा.

अमेरिका से होगी आयात

इस टनल में अमेरिका में निर्मित अत्याधुनिक बट वेल्डर मशीन से मजबूत और अधिक संख्या में पटरियों का निर्माण किया जाएगा. इसके लिए बट प्लांट से बकायदा डिमांड बनाकर मुख्यालय भी भेज दी गई है और जल्द मुख्यालय स्तर पर इस मशीन को आयात कर मेरठ भेजा जाएगा.