मानसून की बारिश होने में अब बहुत दिन शेष नहीं। बावजूद इसके इससे निपटने के लिए अभी तक नागपुर नगरपालिका प्रशासन ने कोई तैयारी नहीं की है। दो साल पहले की जलभराव और जनजीवन अस्तक व्य्स्त कर देने वाली भयानक स्थिति से उन्होंने कुछ सीखा हो ऐसा नहीं लग रहा। ना तो नगर पालिका ना ही नागपुर इंप्रूवमेंट ट्रस्ट कोई ठोस तैयारी करता दिख रहा है। जिससे लगता है कि इस वर्ष भी लोगों को बरसात के दिनों में जलभराव की समस्या से दो चार होना पड़ेगा। हालाकि कई नालों की सफाई करने के दावे किए गए हैं पर सच ये है कि नालों की सफाई हुए कई महीने हो चुके है। जिससे शहर के प्रमुख नाले ओवरफ्लो कर सकते है।

स्थानीय लोगों के अनुसार जलभराव से गंदा पानी घरों तक में घुस जाता है। जरूरी है कि समय रहते सभी प्रमुख नालों और नदियों की सफाई कराई जाए, ताकि लोगों को समस्या का सामना न करना पड़े। अभी तक जिला मुख्यालय स्थित नगरपालिका प्रशासन की जलभराव से निपटने के लिए कोई तैयारी नहीं है। लिहाजा लग ऐसा ही रहा है कि इस बार भी लोगों को फिर मानसून भारी पड़ने वाला है। खास बात यह है कि जिला प्रशासन अब भी इस मुद्दे पर कोई दिलचस्पी नहीं दिखा रहा है। पिछली बार जलभराव के कारण जो समस्यायें सामने आयी थीं वो इस बार भी ज्यों की त्यों हैं। मानसून को लेकर कहीं कोई नालों की मरम्मत, सफाई या फिर नए नालों का निर्माण नहीं कराया जा रहा है।

Hindi News from Business News Desk

Business News inextlive from Business News Desk