ष्ट॥न्यक्त्रन्ष्ठ॥न्क्त्रक्कक्त्र: महापर्व छठ के दौरान बिहार की ओर जानेवाली ट्रेनों में अब कंफर्म टिकट मिलना मुमकिन नहीं है. दीपावली के ठीक बाद से ही ट्रेनों की विभिन्न श्रेणियों में 50 से अधिक का वे¨टग टिकट यात्रियों को मिल रहा है. ऐसे में चक्रधरपुर और टाटानगर के यात्रियों को छठ पूजा स्पेशल ट्रेन का इंतजार है. छठ पूजा स्पेशल ट्रेन को चलाने की हरी झंडी मिलने से चक्रधरपुर एवं टाटानगर के हजारों यात्रियों को फायदा होगा लोग. यात्री बड़े आराम के साथ यात्रा कर सकेंगे. दानापुर रेल मंडल इस बार देश के विभिन्न राज्यों के बीच पटना से दर्जनों पूजा स्पेशल ट्रेन चला रहा है. जिसकी वजह से रैक की कमी हो गई है. इस कारण टाटानगर पटना छठ पूजा स्पेशल ट्रेन को चलाने की घोषणा रेलवे ने अब तक नहीं की है. वहीं चक्रधरपुर रेल मंडल द्वारा रेल मुख्यालय को छठ पर्व के दौरान ट्रेनों में अतिरिक्त कोच एवं छठ पूजा स्पेशल ट्रेन चलाने के लिए पत्रचार किया है.

दो बच्चों का किया गया इलाज

दीपावली के दिन मुंबई मेल और साउथ बिहार एक्सप्रेस ट्रेनों में सफर कर रही एक वर्षीय बच्ची अमरीन और 14 वर्षीय कन्हैया कुमार की तबियत अचानक खराब हो गई. इन दोनों का इलाज रेलवे अस्पताल के डाक्टर ने चक्रधरपुर स्टेशन में किया. जानकारी के अनुसार एक वर्षीय अमरीन अपने पिता सफीउल हसन के संग ट्रेन नंबर 12809 मुंबई हावड़ा मेल में हावड़ा तक की सफर कोच एस 2 के बर्थ नंबर 65 में कर रही थी. सफर के दौरान अमरीन की बीमार पड़ गई. इस की जानकारी ट्रेन में स्कॉट ड्यूटी में तैनात आरपीएसएफ के जवानों ने कंट्रोल रूम फोन कर डाक्टर की सहयता मांगी थी. जबकि ट्रेन नंबर 13288 राजेन्द्र नगर दुर्ग साउथ बिहार एक्सप्रेस के कोच नंबर एस 1 बर्थ नंबर 14 में अपने परिजनों के संग यात्रा कर रहा 14 वर्षीय कन्हैया कुमार को अचानक उल्टी होने लगी. यह देख सह यात्रियों ने ट्रेन के टीटीई से डाक्टर की मदद मांगी. कन्हैया बख्तियारपुर से रायगढ़ जा रहा था. टीटीई ने कमर्शियल कंट्रोल को सूचित किया. इसके बाद ट्रेन के चक्रधरपुर पहुंचने पर रेलवे अस्पताल के डाक्टर ने कन्हैया की जांच कर दवा दी. तदोपरांत ट्रेन को गंतव्य के लिए रवाना किया गया.