बच्चों के लिए नही लेना होगा अलग से टिकट

meerut@inext.co.in

MEERUT :  रेलवे ने एडवांस टिकट बुकिंग के नियमों में बदलाव करते हुए यात्रियों को बिना टिकट कैंसल कराए अपने बच्चों के नाम को टिकट में शामिल करने की सुविधा दी है. यानी कि बच्चों के लिए अब अलग टिकट लेने की जरुरत नहीं पड़ेगी, अपने टिकट में ही बच्चों का नाम एड कराकर साथ में यात्रा कर सकेंगे. हालांकि बच्चों को ट्रेन में बर्थ या सीट नहीं मिलेगी.


नहीं करना होगा कैंसल

अभी तक तक एडवांस टिकट यानी कि पहले से ही बुक कराए गए कंफर्म टिकट में बच्चों का नाम जुड़वाने के लिए टिकट रद्द कराकर नया टिकट खरीदना पड़ता था. लेकिन 5 से 12 साल तक के बच्चों को इस टिकट में शामिल नही किया जाता था. ऐसे में बच्चों को नाम जोड़ने के लिए यात्रियों को अपना कन्फर्म टिकट रद कर नया टिकट खरीदना पड़ता था. इसमें पीएनआर (पैसेंजर नेम रिकार्ड) बदलते ही कंफर्म सीट या बर्थ कैंसिल हो जाती थी और यात्री को वेटिंग टिकट ही मिलता था. अब टिकट कैंसल किए बिना बच्चों का नाम जोड़े जा सकेंगे.

इनका भी रखें ध्यान

यात्री अपने कंफर्म टिकट में नाम जुड़वाने का काम ऑनलाइन या रेल काउंटर के जरिये कर सकेंगे.

पहले से बुक टिकट में बच्चों का नाम जुड़वाने पर बच्चों को ट्रेन में बर्थ या सीट नहीं मिलेगी.

शताब्दी एक्सप्रेस ट्रेन के चेयरकार एसी-1 में भी यह नियम नहीं लागू होगा.

अभिभावक, माता-पिता अथवा सहायक की संख्या के हिसाब से ही बच्चों को एडवांस टिकट में जोड़ा जा सकेगा.

रेल यात्रा के दौरान बच्चे अभिभावक के साथ सुरक्षित सफर कर सकें और अभिभावकों को भी परेशानी न हो, इसलिए नियम केवल बच्चों के लिए बदला है.

आरपी शर्मा, स्टेशन अधीक्षक