अब 16 जनवरी तक शहर से भी कुंभ मेला क्षेत्र में नहीं जा सकेंगे कोई वाहन

मकर संक्रांति पर भीड़ बढ़ी तो शहर में भी नहीं चलने दिया जाएगा वाहन

prayagraj: कुंभ मेला-2019 सोमवार से शुरू हो जाएगा. इसके लिए अब शहर के लोगों को भी कुछ असुविधाओं के लिए तैयार रहना होगा. शाही स्नान के लिए शहर में ट्रैफिक प्लान लागू कर दिया गया है.

टै्रफिक सिक्योरिटी प्लान लागू

ट्रैफिक मैनेजमेंट, सिक्योरिटी के साथ ही सेफ्टी प्वाइंट को ध्यान में रखते हुए कुंभ मेला के प्रथम शाही स्नान से पहले ही शहर के अंदर वाहनों की इंट्री बंद कर दी गई है. रविवार को दोपहर बाद लागू हुई व्यवस्था 16 जनवरी तक जारी रहेगी. तीन दिन तक शहर में न तो कोई गाड़ी आ सकेगी और न ही शहर से मेला क्षेत्र की ओर गाडि़यां जा सकेंगी.

शटल बस सेवा का करें उपयोग

सोमवार को भीड़ कुछ कम होने से शहर के अंदर विभिन्न मार्गो पर गाडि़यां चलेंगी. मंगलवार यानी प्रथम शाही स्नान के दिन भीड़ बढ़ने पर शहर के अंदर भी वाहन नहीं चलने दिए जाएंगे. मेला क्षेत्र से सटे इलाकों, स्टेशन की ओर जाने वाली सड़कों पर पुलिस तैनात होगी, जो वाहनों को रोकेगी. इसलिए बेहतर होगा कि कुछ दिनों के लिए जरूरी काम होने पर ही अपना वाहन निकालें. नहीं तो शटल बस सेवा का उपयोग करें. 500 शटल बसें चलाई जा रही हैं.

इंट्री प्वाइंट पर ही रोके वाहन

रविवार को नैनी से शहर की तरफ आने वाले बड़े वाहनों के साथ ही फोर व्हीलर गाडि़यों को भी नहीं आने दिया गया. नए पुल से पहले व पुराने पुल की तरफ भी वाहनों को रोका गया. इसी तरह फाफामऊ से आने वाली गाडि़यों को शहर में नहीं आने दिया गया. पार्किंग स्टैंड पर रोक कर लोगों को पैदल ही मेला की ओर जाने दिया गया. जिन्हें शहर में आना था, उन्हें शटल बस सेवा का उपयोग करने की सलाह दी गई.

सोमवार से शहर से मेला की ओर गाडि़यां नहीं जाने दी जाएंगी. शहर के लोग भी शटल बस से निर्धारित स्थल तक ही जा सकेंगे. मुख्य स्नान पर्व के दिन शहर में भीड़ बढ़ने पर ट्रैफिक रोका जाएगा.

कुलदीप सिंह, एसपी ट्रैफिक