क्त्रन्हृष्ट॥ढ्ढ: राजधानी में चारों ओर दुर्गा पूजा की धूम है. लेकिन शहर में सफाई ही नहीं हो रही है. कुछ इलाकों को छोड़ पूरे शहर की सफाई व्यवस्था खराब है. वहीं बारिश की वजह से स्थिति और भी नारकीय हो गई है. इसके बावजूद रांची नगर निगम सफाई नहीं करा रहा है और न ही सफाई एजेंसी पर इसके लिए दबाव बनाया जा रहा है. ऐसे में इतना तो तय हो गया है कि इस बार लोग कूड़े के ढेर से होते हुए मां दुर्गा की पूजा करने जाएंगे.

आदेश को सफाई एजेंसी का ठेंगा

दुर्गा पूजा को देखते हुए रांची नगर निगम ने विशेष सफाई अभियान चलाने का आदेश दिया था. साथ ही कहा गया था कि पूजा पंडालों के आसपास इसका ध्यान रखा जाए. अगर जरूरत पड़े तो रात में सफाई कराई जाए. लेकिन पूजा पंडालों के पास ही गंदगी का अंबार लगा है. बरियातू में जहां रिम्स चौक के पास बने पंडाल से महज कुछ दूरी पर कचरा जमा है. वहीं दुर्गाबाड़ी से 100 मीटर की दूरी पर कई दिनों से कचरा जमा है. कुछ ऐसी ही स्थिति कोकर से रिम्स जाने वाली सड़क में देखने को मिल रही है. अब तो पास से गुजरने वालों को अपनी सांसें रोकनी पड़ रही है.

बारिश में कूड़े से आ रही दुर्गध

कचरे का उठाव नहीं होने के कारण रोड पर फैलता जा रहा है. वहीं साइक्लोन की वजह से हो रही बारिश ने लोगों की परेशानी और बढ़ा दी है. दो दिनों से हो रही बारिश के कारण कचरे से दुर्गध भी आने लगी है. इससे आसपास के लोगों का अपने घर में रहना मुश्किल हो गया है. ऐसे में सवाल यह उठता है कि बार-बार वार्निग और नोटिस देने के बावजूद एजेंसी पर मेहरबानी क्यों दिखाई जा रही है. बताते चलें कि कुछ दिनों पहले पार्षदों ने भी एजेंसी को हटाने की मांग की थी, जिसका समर्थन विपक्ष ने भी किया था. अब तो विरोध करने वाले पार्षदों ने भी चुप्पी साध ली है.