JAMSHEDPUR: छोटा गोविंदपुर जलापूर्ति योजना के तहत पाइप लाइन बिछाने को रेलवे अब एनओसी देने को राजी हो गया है. रेलवे ने ये एनओसी जनवरी के अंत तक देने के संकेत दिए हैं. डीआरएम छत्रसाल सिंह ने संबंधित फाइल दक्षिण पूर्व रेलवे के महाप्रबंधक के पास भेज दी है. डीआरएम ने ये जानकारी बुधवार को पेयजल एवं स्वच्छता विभाग के अधीक्षण अभियंता राजेंद्र प्रसाद गुप्ता और कार्यपालक अभियंता शिशिर कुमार सोरेन को एक बैठक के बाद बुधवार को दी.

कर ली है तैयारी

इस मुलाकात में डीआरएम ने अधीक्षण अभियंता को बताया कि उन्होंने छोटा गोविंदपुर जलापूर्ति एनओसी संबंधी फाइल दक्षिण पूर्व रेलवे के महाप्रबंधक के दफ्तर में भेज दी थी. महाप्रबंधक ने अब एनओसी देने की तैयारी कर ली है. जल्द ही एनओसी मिल जाएगी. अधीक्षण अभियंता ने बताया कि उनकी डीआरएम से मुलाकात ठीक रही. हफ्ते भर में एनओसी मिल जाएगी. इसके बाद रेलवे के इलाके में पाइप लाइन बिछाने का काम शुरू कर दिया जाएगा. गौरतलब है कि छोटा गोविंदपुर जलापूर्ति योजना में 80 किलोमीटर लंबी पाइप लाइन बिछाई जा रही है. इसमें से ढाई किलोमीटर पाइप लाइन रेलवे की जमीन पर बिछाई जानी है. ये पाइप लाइन रेल लाइन के समानांतर बिछाई जाएगी. इसके अलावा तकरीबन 100 मीटर तक पाइप लाइन रेल लाइन के नीचे से जानी है. इसलिए रेलवे की एनओसी के बिना ये काम ठप है.

मार्च में होगी शुरुआत

मुख्यमंत्री रघुवर दास ने पेयजल एवं स्वच्छता विभाग के सचिव को हिदायत दी है कि छोटा गोविंदपुर जलापूर्ति योजना को मार्च में शुरू कर देना है. ताकि इस गर्मी में इलाके के लोग पेयजल संकट नहीं झेलें. जलापूर्ति योजना से 23 ग्राम पंचायतों के 113 गांव लाभान्वित होंगे. योजना में छह जल मीनारें गदड़ा, छोटा गोविंदपुर के कुंवर सिंह मैदान, बारीगोड़ा शिव मंदिर के करीब, परसुडीह में परमथ नगर और सरजामदा पंचायत भवन के पास बननी हैं.

तो अनशन करेंगे प्रतिनिधि

बागबेड़ा व किताडीह की 13 बस्तियों में वृहद जलापूर्ति के तहत पाइप लाइन बिछाने के लिए रेलवे की ओर से एनओसी नहीं दिए जाने से नाराज पंचायत प्रतिनिधि आगामी सोमवार को एईएन कार्यालय के समक्ष एक दिवसीय अनशन करेंगे. बुधवार को पंचायत प्रतिनिधियों ने बागबेड़ा में बैठक कर इस बाबत रणनीति बनाई. बैठक में उपस्थित जिला परिषद सदस्य किशोर यादव ने कहा कि कई बार रेल प्रशासन को ज्ञापन सौंपकर पाइप लाइन बिछाने के लिए एनओसी की मांग की गई. बैठक में मुखिया गौरी टोप्पो, नीनू कुदादा, मायावती टुडू, प्रतिमा मुंडा, जमुना हांसदा, बाहामुनी हेम्ब्रम, पंसस धमेन्द्र चौहान, नीरज सिंह, कुमुद यादव, राजू सिंह, सुरेश निषाद, बुधराम टोप्पो, मोहन लाल समेत अन्य उपस्थित थे.