जल्‍द ही होगी गिरफ्तारी
लंबे समय से विवाद में रहे आईपीएल के पूर्व चेयरमैन ललित मोदी के खिलाफ गैर-जमानती वारंट जारी हो गया है। खबरों के अनुसार मुंबई की स्‍पेशल पीएमएलए कोर्ट ने बुधवार को ललित मोदी के खिलाफ यह वारंट जारी किया है। ललित मोदी के बयानों के बाद प्रवर्तन निदेशालय ने पिछले महीने कोर्ट में उनके खिलाफ गैर-जमानती वारंट जारी करने की अर्जी दी थी। वारंट जारी होने के बाद ललित मोदी के गिरफ्तार होने की संभावना बढ़ गई है।

समनों का पालन नहीं किया
मंगलवार को अर्जी पर सुनवाई के दौरान विशेष न्‍यायाधीश पीआर भावाके ने पूछा था कि ललित मोदी को गिरफ्तार क्‍यों नहीं किया जा रहा है? इसके बाद प्रवर्तन निदेशालय के वकील ने अदालत को बताया कि मोदी भारत में नहीं है गैर-जमानती वारंट जारी किया जाना चाहिए। वकील ने यह भी बताया कि ललित मोदी ने 2009 से जारी किए जा रहे समनों का पालन नहीं किया है।

इसलिए उठाना पड़ा कदम

गौरतलब है कि प्रवर्तन निदेशालय ने मनी लॉन्ड्रिंग मामले में राजस्‍थान क्रिकेट एसोसिएशन के अध्‍यक्ष को 3 जुलाई को नोटिस जारी करते हुए दो सप्‍ताह में अदालत में पेश होने के लिए कहा था। मोदी ने इसे लेकर कोई जवाब नहीं दिया था जिसके बाद ईडी ने वक्‍त आगे बढ़ाते हुए एक और नोटिस दिया था। जवाब देने की आखिरी तारीख 22 जुलाई निकल जाने के बाद भी जब मोदी की तरफ से कोई जवाब नहीं आया तो जांच एजेंसी यह कदम उठाया। वारंट जारी होने के बाद ईडी के वकील ने अदालत के बाहर जानकारी दी कि 'कोर्ट से वारंट प्राप्‍त करने के बाद ललित मोदी को गिरफ्तार कर भारत लाया जाएगा।'

Hindi News from India News Desk

National News inextlive from India News Desk