सातवें वेतन आयोग की सिफारिशों में संशोधन न होने पर छेड़ेंगे देशव्यापी आंदोलन

दिसंबर में आनी है सिफारिशों की स्क्रीनिंग के लिए गठित कमेटी की रिपोर्ट

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: सातवें वेतन आयोग की सिफारिशों से नाखुश रेलकर्मियों का माथा ठंडा करने के लिए केंद्र सरकार ने सिफारिशों की स्क्रीनिंग के लिए कमेटी का गठन किया था. कमेटी की रिपोर्ट दिसंबर में आनी है. लेकिन रेलवे कर्मचारी रिपोर्ट का इंतजार किए बिना अपने तेवर सरकार को दिखा रहे हैं. उनका कहना है कि अगर कर्मचारी हित में सिफारिशों में संशोधन न हुआ तो सरकार को बड़ा खामियाजा उठाना पड़ेगा. रेलकर्मी पूरे देश में आंदोलन छेड़ देंगे. बुधवार को कोरल क्लब में नार्थ सेंट्रल रेलवे इंप्लाइज यूनियन (एनसीआरईएस) के अधिवेशन में यही फैसला लिया गया.

राष्ट्रीय अधिवेशन में होगा फैसला

अधिवेशन का उद्घाटन नेशनल फेडरेशन आफ इंडियन रेलवे (एनएफआइआर) के अध्यक्ष गुमान सिंह, महामंत्री डा. एम राघवैय्या और एनसीआरईएस के अध्यक्ष सैयद शकील हैदर ने किया. उन्होंने कहा कि सातवां वेतन आयोग कर्मचारियों को निराश करने वाला है. कर्मचारियों के विरोध को देखते हुए सरकार ने चार महीने का समय मांगा था. दिसंबर में यह अवधि पूरी हो जाएगी. कमेटी की रिपोर्ट का कर्मचारियों को बेसब्री से इंतजार है. रिपोर्ट में अगर कर्मचारियों के हित में संशोधन न नजर आया तो सरकार को देशव्यापी आंदोलन झेलना पड़ेगा. उन्होंने कहा कि जल्द ही गुवाहाटी में संगठन का राष्ट्रीय अधिवेशन होना है. उसी में आंदोलन की रणनीति तय होगी.

कर्मचारियों ने किए सवाल

एनसीआरईएस के महामंत्री आरपी सिंह ने बताया कि संगठन कर्मचारी हितों के लिए लगातार संघर्षरत है. शहर विधायक अनुग्रह नारायण सिंह ने कर्मचारियों की मांग का समर्थन किया. कहा कि कांग्रेस शासन में कर्मचारियों के वेतन में अच्छी बढ़ोतरी हुई थी. भाजपा शासन में कई कटौती कर दी गई है. दोपहर बाद सीधा संवाद का आयोजन किया गया. इसमें कर्मचारियों ने पदाधिकारियों से सवाल किए. इसमें एनपीएस को रद करने, ग्रुप डी की भर्ती करने और ट्रैक मेंटेनर को टेक्नीकल ग्रेड में शामिल करने आदि के मुद्दे छाए रहे. शाम को एनसीआरईएस का चुनाव हुआ. इसमें फिर से सैयद शकील हैदर को अध्यक्ष और आरपी सिंह महामंत्री चुना गया. इस मौके पर डीआरएम एसके पंकज, सीपीओ ओम प्रकाश, सीसीएम डा. डीके त्रिपाठी, सीओएम अनुराग, एसके पांडेय, आलोक सहगल, वाईएस त्यागी, रामकुमार सिंह, वीबी गौतम, मान सिंह, रूपम पांडेय, सत्यनारायण, बेचन अली आदि मौजूद रहे.