बिना बुकिंग के दिया था कुख्यात को होटल का कमरा

पुलिस ने होटल के कमरे को किया सील

होटल के बाहर भी तैनात किया गया पुलिस

MEERUT : वेस्ट यूपी के कुख्यात बदन सिंह को पुलिस कस्टडी से फरार कराने में होटल मुकुट महल के मालिक की भूमिका भी संदिग्ध पाई गई है। होटल मालिक ने कुख्यात बदमाश को बिना बुकिंग के कमरा दिया था, जहां से वह फरार हुआ। पुलिस ने बदन सिंह बद्दो की फरारी में होटल मालिक मुकेश गुप्ता को भी मुल्जिम बना दिया है।

कमरा किया सील

इंस्पेक्टर ब्रह्मपुरी रघुराज सिंह ने बताया कि मुकुट महल होटल के कमरा नंबर 202 में कुख्यात बदमाश रूका था, जहां से वह पुलिस कर्मियों को शराब में बेहोशी की दवा पिलाकर फरार हो गया। उस कमरे को सील कर दिया गया है। होटल के बाहर पुलिस बल तैनात कर दिया गया है।

होटल मालिक फरार

होटल मालिक मुकेश गुप्ता का मुकदमें में नाम आते ही भूमिगत हो गया। इंस्पेक्टर ब्रह्मपुरी रघुराज सिंह का कहना है कि होटल मालिक की तलाश में कई स्थानों पर दबिश डाली गई है।

बिजनेस पार्टनर

पुलिस का कहना है कि छानबीन में निकल कर आया है कि होटल मालिक मुकेश गुप्ता कुख्यात बदमाश बदन सिंह बद्दो के साथ बिजेनस में साझेदार भी है। उसको भगाने में इसकी भी अहम भूमिका है। हर तारीख पर फरूर्खाबाद पुलिस उसे होटल में लेकर आती थी, जहां पर उसे अय्याशी कराई जाती थी।

होटल में 30 कमरे

मुकुट महल होटल में तीस कमरे है। बुकिंग करके ही हर कमरा किराए पर दिया जाता है। गुरुवार को 12 कमरे बुक थे। लेकिन बदन सिंह जिस कमरे में रूका था, उसकी बुकिंग नहीं थी। सबूत के तौर पर पुलिस ने रजिस्टर अपने कब्जे में ले लिया है।

होटल पर पुलिस तैनात

एसएसपी ने होटल के बाहर पुलिस बल तैनात कर दिया। एसएसपी नितिन तिवारी का कहना है कि होटल मालिक की जब तक गिरफ्तारी नहीं हो जाती, जब तक होटल खुलने नहीं दिया जाएगा।

12 लोगों को बनाया मुल्जिम

बदन सिंह बद्दो की फरारी में ब्रहमपुरी थाने में बदन सिंह बद्दो, उसके बेटे सिकंदर, होटल मालिक मुकेश गुप्ता, छह पुलिसकर्मी, तीन गुर्गो को मुल्जिम बनाया है।

------

बदन सिंह बद्दो व उसके साथ आए पुलिस कर्मियों ने कोई कमरा बुक नहीं कराया था। उनकी रजिस्ट्रर में एंट्री भी नहीं मिली है।

रघुराज सिंह इंस्पेक्टर ब्रह्मपुरी