- एलयू ने मेस फीस न देने वाले स्टूडेंट्स का रिजल्ट रोकने का दिया फरमान

lucknow@inext.co.in

LUCKNOW :

एलयू ने मेस की फीस न जमा करने वाले स्टूडेंट्स के रिजल्ट रोकने के आदेश दिए हैं. यूनिवर्सिटी के न्यू कैंपस स्थित होमी जहांगीर भाभा हॉस्टल के स्टूडेंट्स के ओर से फीस जमा न किए जाने पर यह कार्रवाई की गई है. यूनिवर्सिटी प्रशासन ने मंगलवार को मेस फीस न देने वाले स्टूडेंट्स की लिस्ट जारी की है. यूनिवर्सिटी के रजिस्ट्रार प्रो. आरके सिंह की ओर से जारी निर्देशों में कहा गया है कि एनुअल एग्जाम पर आधारित यूजी और अगले वीक से शुरू होने वाले सेमेस्टर एग्जाम देने जा रहे स्टूडेंट्स के एडमिट कार्ड जारी हो चुके हैं, उन्हें रोका जाएगा. सेमेस्टर एग्जाम पर आधारित जो परीक्षा यूजी कोर्स में हो चुकी है उनके रिजल्ट रोक दिए जाएंगे.

स्टूडेंट्स में गुस्सा

यूनिवर्सिटी के इस फरमान को लेकर स्टूडेंट्स में काफी नाराजगी है. कुछ स्टूडेंट्स ऐसे हैं जिन्होंने मेस की सुविधा ली है लेकिन पैसे जमा नहीं किया. लेकिन ऐसे स्टूडेंट्स की संख्या भी ज्यादा है जिन्होंने मेस में खाना ही नहीं खाया फिर भी उनसे पैसे मांगे जा रहे हैं. यूनिवर्सिटी की इस कार्रवाई से एक बार फिर नो डायट नो पे की मांग उठने लगी है. गौरतलब है कि यूनिवर्सिटी प्रशासन ने हॉस्टल में रहने वाले हर स्टूडेंट्स से चाहें वो मेस में खाना खाए या न खाए से मेस फीस लेने की व्यवस्था की है.

अपनी कमी छिपा रही यूनिवर्सिटी

स्टूडेंट्स की मानें तो यूनिवर्सिटी प्रशासन के पास मेस में खाना खाने वाले स्टूडेंट्स की अटेंडेंस दर्ज कराने की कोई व्यवस्था नहीं है. इसलिए अपनी कमी को छिपाने के लिए मेस का खाना न खाने वाले स्टूडेंट्स से भी पैसे लिए जाते हैं.