27 हजार से अधिक शहरवासियों को करनी है ऐप डाउनलोड

13 हजार तक पहुंच गया है स्वच्छता ऐप डाउनलोड करने का आंकड़ा

8 हजार तक सीमित था पिछले सप्ताह यह आंकड़ा

Meerut. स्वच्छता सर्वेक्षण 2019 में सफलता के लिए अति महत्वपूर्ण मानक स्वच्छता ऐप डाउनलोड करने में शहरवासी इस बार कुछ खास रुचि नही दिखा रहे हैं. यहां तक की खुद निगम भी इस मानक के प्रति लोगों को जागरुक करने के लिए सजग नही है. निगम की ओर से अभी तक शहर में ऐप डाउनलोड कराने के लिए एक भी शिविर या प्रचार कार्यक्रम आयोजित नही किया गया है. यहां तक निगम के अधिकारियों को खुद सिटी रैकिंग तक की जानकारी भी नही है.

13 हजार के करीब पहुंचा आंकड़ा

स्वच्छता ऐप डाउनलोड करने में निगम की तरफ से भले ही प्रचार ना किया गया, लेकिन निगम इस ऐप के लिए अपनी स्थिति मजबूत बता रहा है. निगम का दावा है कि इस ऐप के डाउनलोड करने के आंकड़ों में तेजी से इजाफा हो रहा है. शहर के लोग तेजी से इस एप को डाउनलोड कर अपना पंजीकरण करा रहे हैं. निगम के अनुसार ऐप डाउनलोड करने का आंकड़ा करीब 13 हजार तक पहुंच गया है जबकि गत सप्ताह यह आंकडा मात्र 8 हजार तक सीमित था. लेकिन निगम के पास इस आंकडे़ का कोई अधिकृत डाटा मौजूद नही है.

सिटी रैकिंग से अंजान निगम

स्वच्छता सर्वेक्षण 2019 में शामिल देशभर के शहरों की हर सप्ताह ऐप डाउनलोडिंग के हिसाब से रैकिंग जारी की जाती है. यह रैकिंग सर्वेक्षण में जीत का बड़ा मानक साबित होगी, लेकिन इसके बाद भी निगम अपने शहर की रैकिंग जानने तक में रुचि नही रख रहा है. निगम के अधिकारियों को अपनी रैकिंग तक की जानकारी नही है.

स्वच्छता ऐप डाउनलोडिंग के प्रति शहर के लोग अभी अधिक जागरुक नही हैं हम प्रयास कर रहे हैं और इसमें इस सप्ताह इजाफा भी हुआ है. 13 हजार करीब एप डाउनलोड हो चुके हैं. वही रैकिंग की जानकारी मुख्यालय से जारी होती है इसका अपडेट लिया जाएगा.

अमित कुमार, अपर नगरायुक्त