- डीएम सुशील कुमार ने सभी अधिकारियों से मांगा स्पष्टीकरण

PAURI: पौड़ी जिले में आईआरएस (इंसीडेंट रिस्पांस सिस्टम) को लेकर अधिकारी कितने संजीदा हैं, इसकी बानगी सोमवार को पौड़ी में डीएम द्वारा डिजास्टर मैनेजमेंट के लिए बुलाई गई बैठक में देखने को मिली. बैठक में 13 अधिकारी नदारद मिले, जिन्हें नोटिस जारी किया गया है. आपदा प्रबंधन की तैयारियों के तहत इन अधिकारियों द्वारा जिला आपदा नियंत्रण कक्ष में योगदान न देने पर यह कार्रवाई की गई. नदारद रहने वाले अधिकारियों से स्पष्टीकरण भी तलब किया गया.

डीएम ने बुलाई थी बैठक

जिलाधिकारी सुशील कुमार के निर्देश पर सोमवार को मौजूदा मानसूनी सीजन की तैयारियों के लिए आईआरएस सिस्टम से जुड़े अधिकारियों को जिला आपदा नियंत्रण कक्ष में बुलाया गया. इसके लिए अपर जिलाधिकारी रामजी शरण शर्मा सुबह ही आपदा नियंत्रण कक्ष पहुंच गए. आपदा कंट्रोल रुम से सभी विभागीय अधिकारियों को दूरभाष से भी बैठक लिए जाने की जानकारी दी गई. लेकिन सिस्टम से जुड़े 45 विभागों के तेरह अधिकारी दोपहर तक भी नहीं पहुंचे. यह सब तब देखने को मिला जब पूरा जिला प्रशासन आपदा प्रबंधन की तैयारियों में जुटा है और खुद जिलाधिकारी सुशील कुमार द्वारा जिला स्तरीय अधिकारियों के मुख्यालय छोड़ने पर रोक लगाई है. मामले को गंभीरता से लेते हुए जिलाधिकारी के निर्देश पर गैर हाजिर अधिकारियों को नोटिस भेज दिया गया है. जो अधिकारी नियंत्रण कक्ष नहीं पहुंचे, उनमें एआरटीओ, डीएसओ, लोनिवि प्रांतीय खंड के अधिशासी अभियंता, अधिशासी अभियंता जल निगम, जिला सूचना अधिकारी, डीईओ फूड सैप्टी, लघु सिचाई विभाग के ईई, मुख्य चिकित्साधिकारी सहित सिस्टम से जुड़े तेरह अधिकारी शामिल हैं. एडीएम रामजी शरण शर्मा ने बताया कि सभी गैर हाजिर रहने वाले अधिकारियों से स्पष्टीकरण भी तलब किया गया है.