-सवारी बनकर लुटेरे बुक कर रहे कैब, फिर लूट कर करते हैं मर्डर

-औरेया में गैंग पकड़े जाने के बाद सभी जगह अलर्ट

BAREILLY: कैब बुक कराकर कहीं भी जाने का चलन बढ़ गया है. छोटे शहरों में बड़ी कंपनियां भी लोकल लोगों से मिलकर अपना बिजनेस चला रही हैं. बरेली में भी इस तरह की एक कंपनी कैब ऑपरेट कर रही है. अभी तक इन कैब्स में सफर करने के दौरान यात्री खुद को अनसेफ महसूस करते थे लेकिन अब कैब ड्राइवर्स के लिए भी टेंशन वाली बात हो गई है. क्योंकि सवारी बनकर बदमाश सफर कर रहे हैं और कई बार तो कैब लूटकर ड्राइवर का मर्डर तक कर दे रहे हैं. औरेया डिस्ट्रिक्ट में पिछले दिनों पकड़े गए एक बड़े गैंग से पुलिस हरकत में आ गई है. जिसके बाद सभी जिलों को एक अलर्ट जारी किया गया है, ताकि कैब ड्राइवर्स सवारी को ले जाते वक्त अलर्ट रह सकें.

100 लूट, 10 मर्डर कर चुका गैंग

औरेया पुलिस ने जिस गैंग को पकड़ा, उन्हें इतना भी नहीं पता था कि वह कितने ड्राइवर्स का किडनैप कर मर्डर कर चुके थे. वह फेक सिम यूज कर कैब बुक करते थे. जब औरेया पुलिस ने जिस कंपनी के ड्राइवर का मर्डर हुआ था तो उससे संपर्क किया तो रिकॉर्ड में आया कि 100 से अधिक ड्राइवर्स के साथ लूट हो चुकी थी और जिनमें 10 का मर्डर हो चुका था, जो एक बड़ी संख्या है. जिसके बाद ही पुलिस ही सभी जिलों को अलर्ट किया है ताकि उनके यहां के कैब ड्राइवर्स के साथ कोई वारदात न हो.

इस तरह से बरतें सावधानी

-जब भी कोई कैब बुक हो तो कैब बुक करने वाली कंपनी को बुकिंग करने वाले की डिटेल कलेक्ट करनी चाहिए

-बुकिंग करने वाले से आधार कार्ड या कोई अन्य वैलिड आईडी जरूर मांग लें ताकि उसकी पहचान आसानी हो सके

-जब भी ड्राइवर बुकिंग लेकर चले तो वह अपने स्मार्टफोन से सवारी की एक पिक जरूर खींचकर अपनी कंपनी या किसी के पास भेज दें

-कैब लुटेरे कैब के साथ कैब ड्राइवर्स का मोबाइल भी लूट लेते हैं, इसलिए स्मार्टफोन के साथ कैब में भी जीपीएस लगा हो

-बुकिंग के दौरान रूट मैप क्लियर होना चाहिए. गाड़ी को जीपीएस के माध्यम से सेंट्रली अटैच कराया जाए

-जब भी रूट से इधर-उधर कैब जाए तो तुरंत सवारी से पूछा जाए. कैब मालिक ड्राइवर्स से भी लगातार संपर्क में रहे

हम कैब बुक करने से पहले बुक करने वाले का पूरा रिकॉर्ड रखते हैं, ताकि ड्राइवर सेफ रहे. ज्यादातर हम ऑफिसर्स या फिर जानने वालों की ही बुकिंग लेते हैं.

केएस कक्कड़, ट्रेवलर्स

बदमाश फर्जी सिम के जरिए कैब बुक कर ड्राइवर्स को लूटते थे और विरोध करने पर मर्डर कर देते थे. कैब ड्राइवर्स की सेफ्टी के लिए अलर्ट जारी किया गया है. ड्राइवर सवारी बैठाते वक्त ही उसकी पिक्चर ले लें.

त्रिवेणी सिंह, एसपी