-लोगों ने किया पथराव, एसडीपीओ, बीडीओ और सीओ के वाहन क्षतिग्रस्त

-चार मृतकों के परिजनों को डीएम ने दिया मुआवजे का चेक

CHAMPARAN/PATNA: बेगूसराय में 7 लोगों की ट्रक से कुचलने से हुई मौत के दूसरे दिन रामनगर-लौरिया मेन रोड पर पकड़ी गांव के पास शनिवार सुबह पिकअप और हाइवा की टक्कर में 8 लोगों की जान चली गई। जबकि, 7 लोग घायल हो गए। हादसे के बाद जुटे लोगों ने गिट्टी में दबे लोगों को किसी तरह बाहर निकाला। लेकिन, तब तक आठ की मौत हो चुकी थी। पिकअप में 13 लोग सवार थे। वहीं, घायलों में हाइवा के चालक और खलासी भी है।

गौनाहा जा रही थी पिकअप

बताया गया कि रामनगर प्रखंड के जोगिया गांव निवासी नुरुल होदा के परिवार के सदस्य बेटी की शादी के बाद शनिवार को पिकअप से ओलीमा (रिसेप्शन) में गौनाहा थाने के माधोपुर बैरिया गांव में जा रहे थे। इसी दौरान पकड़ी गांव के पास से हाइवा से टक्कर हो गई। पिकअप सड़क के किनारे गड्ढे में पलट गई। टक्कर के कारण अनियंत्रित हाइवा भी पिकअप पर ही जाकर गिर गया। पिकअप का चालक गृहस्वामी नुरुल होदा कूद कर भाग गया। जबकि, पिकअप पर सवार सभी लोग हाइवा पर लदी गिट्टी में दब गए। भीड़ ने दबे लोगों को बाहर निकला। तब तक आठ लोगों की मौत हो चुकी थी। इसके बाद सात घायलों को उपचार के लिए अस्पताल भेजा गया। इसमें तीन की हालत गंभीर है। प्राथमिक उपचार के बाद तीनों को बेहतर इलाज के लिए एमजेके अस्पताल रेफर कर दिया गया। वहीं, चार घायलों की चिकित्सा रामनगर पीएचसी में जारी थी।

भीड़ ने पुलिस को खदेड़ा

भीड़ ने पुलिस को खदेड़ा, रोड़ेबाजी : घटनास्थल पर पहुंची भीड़ तब उग्र हो गई, जब हाइवा पर लदी गर्म गिट्टी के नीचे से एक बैग मिला। भीड़ ने आरोप लगाया कि अभी भी गिट्टी के अंदर लोग दबे हैं, लेकिन पुलिस कुछ नहीं कर रही है। होमगार्ड के एक जवान के साथ भीड़ ने बदसलूकी की। जब अन्य जवानों ने विरोध किया तो भीड़ उग्र होकर रोड़ेबाजी करने लगी। रामनगर के एसडीपीओ, बीडीओ, सीओ एवं थाने की गाड़ी पर पथराव किया। इसमें वाहनों के शीशे क्षतिग्रस्त हो गए। आधे घंटे तक अफरातफरी मची रही। बाद में अधिकारियों के समझाने पर लोग माने।

डीएम और एसपी पहुंचे

हादसे की सूचना के बाद डीएम डॉ। नीलेश राम चंद्र देवरे, एसपी अर¨वद गुप्ता अन्य अधिकारियों के साथ पहुंचे। लोगों को समझाकर आवागमन चालू कराया। डीएम ने मौके पर मौजूद चार मृतकों के परिजनों को मुआवजे का चेक दिया । कहा कि भयानक हादसा है। इसकी जांच कराई जाएगी। दोषी के खिलाफ कार्रवाई होगी। इसके अलावा पुलिस से बदसलूकी और रोड़ेबाजी करने वालों पर भी कार्रवाई होगी।