कस्तूरबा गांधी आवासीय स्कूलों में सिक्योरिटी होगी टाइट

शासन ने दिए निर्देश, हर लड़की का होगा प्रोफाइल रजिस्टर

सुबह 8 बजे से पहले और 5 बजे के बाद सिर्फ महिला कर्मचारियों की होगी एंट्री

meerut@inext.co.in
MEERUT: कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालयों में अब लड़कियां पैरेंट्स के बिना बाहर नहीं जा सकेंगी. यही नहीं स्कूलों में अब हर लड़की का प्रोफाइल रजिस्टर भी मेनटेन होगा. देवरिया कांड के बाद शासन ने बेसिक शिक्षा परिषद के अंर्तगत लड़कियों के लिए चल रहे आवासीय स्कूलों की सुरक्षा पूरी तरह से टाइट करने के निर्देश जारी कर दिए हैं.

पुरुषों की नो एंट्री

कस्तूरबा गांधी आवासीय स्कूलों में सुबह आठ बजे से पहले और शाम को 5 बजे के बाद सिर्फ महिला कर्मचारी ही स्कूलों में प्रवेश कर सकेगी. इस समय के बाद किसी भी पुरुष की तब तक एंट्री नहीं दी जा सकेगी, जब तक कोई बेहद जरूरी काम न हो. इसके अलावा स्कूल की हर लड़की का प्रोफाइल रजिस्टर मेनटेन किया जाएगा. इसमें पैरेंट्स की फोटो व हस्ताक्षर कराए जाएंगे. इसके अलावा लड़कियों के बाहर आने-जाने का भी रिकार्ड रखा जाएगा. इस पर बालिका और उसके अभिभावकों के हस्ताक्षर जरूरी होंगे.

ये भी निर्देश हुए जारी

स्कूल में सीसीटीवी कैमरा लगेंगे. इन स्कूलों में बीएसए महीने में एक बार, डिस्ट्रिक्ट कोर्डिनेटर 2 बार जबकि खंड शिक्षा अधिकारी महीने में 4 बार अनिवार्य रूप से निरीक्षण करेंगे.

स्टूडेंट्स के साथ स्टाफ की बॉयो मैट्रिक मशीन से 4 बार दिन में हाजिरी लगेगी . शाम और रात का वार्डन, पूर्णकालिक टीचर, 3 महिला रसोइया डोरमेट्री में छात्राओं के साथ निवास करेंगी .

रात में दो महिला होमगार्ड की व्यवस्था होगी इसके अलावा पुलिस की गश्त भी होगी.

वार्डन के अवकाश व अन्य किसी कार्य के लिए बाहर जाने की दशा में दो पूर्ण कालिक टीचर्स इस स्कूलों में अनिवार्य रूप से रहेंगी .

सभी लड़कियों का आधार कार्ड नंबर स्कूल में रजिस्टर्ड किया जाएगा.

हर लड़की का आईकार्ड बनाया जाएगा. इसके साथ ही यह गले में पहनना जरूरी होगा. टीचर्स का भी आई कार्ड जारी किया जाएगा. जिस पर बीएसए के हस्ताक्षर होंगे.

स्कूल की चारदीवारी को कंटीली तारों से घिरवाया जाएगा.

कस्तूरबा गांधी आवासीय स्कूलों में सुरक्षा के लिए निर्देश शासन की ओर से जारी किए गए है. इनको जल्द से जल्द लागू किया जाएगा .

सूर्यकांत गिरि, नगर शिक्षा अधिकारी, मेरठ