श्चड्डह्लठ्ठड्ड@द्बठ्ठद्ग3ह्ल.ष्श्र.द्बठ्ठ

क्कन्ञ्जहृन्: शहर की सड़कें और वार्डो में स्ट्रीट लाइट लगाने की दिशा में दैनिक जागरण आई नेक्स्ट की खबर का बड़ा असर हो गया है. नगर निगम ने शहर के विभिन्न हिस्सों में स्ट्रीट लाइट लगाने की दिशा में अपनी रफ्तार तेज कर दी है. इससे पूर्व नगर निगम और उससे जुड़ी एजेंसी की अनदेखी की वजह से दो दर्जन से अधिक वार्ड रात के अंधेरे में डूब जाते थे. इन वार्डो में स्ट्रीट लाइट लगाने का कार्य ही शुरू नहीं हुआ. 21 अगस्त को दैनिक जागरण आई नेक्स्ट ने वार्डो में रात के दौरान अंधेरे की समस्या को प्रमुखता से प्रकाशित किया था. जिस पर नगर निगम जागा और शहर में स्ट्रीट लाइट लगाने की प्रक्रिया को तेज करने का आदेश दिया.

लाइट लगाने का काम शुरू

गांधी मैदान बैंक रोड पर सोमवार को स्ट्रीट लाइट लगाने का काम शुरू हो चुका है. एक दर्जन से अधिक बिजली के खंभों पर स्ट्रीट लाइट लगाए गए और पूर्व के कनेक्शनों की भी जांच की गई. इस मार्ग पर कई महीनों से अंधेरे की

स्थिति से लोगों को राहत मिली है.

कर्मचारियों का कहना था कि शहर के दूसरे इलाकों में भी इसी तर्ज पर स्ट्रीट लाइट स्थापित किए जाएंगे.

31 अगस्त है अंतिम तिथि

शहर के विभिन्न हिस्सों में स्ट्रीट लाइट लगाने के लिए निगम ने एक निजी कंपनी के ऊपर जिम्मेवारी दी है. जहां 72 हजार स्ट्रीट लाइट सड़कें और वार्डो में लगाया जाना है. इसके लिए निगम ने 31 अगस्त 2018 एजेंसी को अंतिम तिथि दी गई है. लेकिन कुछ दिन पूर्व तक शहर के 50 फीसदी एरिया में भी स्ट्रीट लाइट नहीं लगाई गई थी. इसकी वजह से निगम की मंशा पर पानी फिरने की स्थिति बन गई थी. लेकिन डीजे आई नेक्स्ट में इस लापरवाही को प्रकाशित करने के बाद एजेंसी और निगम प्रशासन में तत्परता दिखने लगी है और सोमवार के दिन कई स्थानों पर स्ट्रीट लाइट लगाने का काम शुरू हो गया.