स्वच्छता सर्वेक्षण अभियान में अब लिया जाएगा पब्लिक का फीडबैक

- 31 जनवरी तक चलेगा स्वच्छता सर्वेक्षण 2019

- आगरा. स्वच्छता सर्वेक्षण 2019 में अब पब्लिक का फीडबैक लिया जाएगा. स्वच्छता सर्वेक्षण से जुड़े सवाल पब्लिक से पूछे जाएंगे. इन सवालों के जवाब ऑनलाइन दिए जाएंगे. इन जबावों से ही नगर निगम की स्टार रैकिंग तय होगी. इसके लिए स्वच्छता सर्वेक्षण 2019 की वेबसाइट को सिटीजन फीडबैक के लिए खोल दिया गया है. इसमें आप ऑनलाइन अपने शहर और अपना नाम लिखेंगे, तो मोबाइल पर ओटीपी प्राप्त होगा. उसके एंट्री करते ही शहर से जुडे़ सवाल सामने होंगे.

ये पूछे जाएंगे सवाल

स्वच्छता सर्वेक्षण 2019 में जो सवाल पूछे जाएंगे, आगराइट्स उनका सकारात्मक जबाव देंगे, तो उसी से शहर की स्टार रैंकिंग तय होगी. पिछले वर्ष की सफाई व्यवस्था और इस वर्ष की सफाई व्यवस्था में क्या अन्तर है. क्या आप सफाई व्यवस्था से संतुष्ट हैं कि नहीं, क्या डोर-टृ-डोर कूड़ा कलैक्शन होता है कि नहीं, कूड़ा निस्तारण की स्थिति क्या है, क्या लैंडफिल साइट पर निस्तारण किया जा रहा है. सिटी में टॉयलेट और शौचालय की क्या व्यवस्था है. क्या आपको जानकारी है कि स्वच्छता सर्वेक्षण 2019 चल रहा है. जैसे सवाल पूछे जाएंगे.

5000 कुल अंक स्वच्छता सर्वेक्षण 2019 में

1250 अंक सिटीजन फीडबैक

1250 अंक सेवा स्तर प्रगति

1250 अंक टीम द्वारा प्रत्यक्ष अवलोकन

1250 अंक टीम द्वारा भौतिक सत्यापन

ऐसे होंगे अंक निर्धारित

200 अंक कचरे के प्रबंधन की स्थिति के

200 अंक स्वच्छता क्षेत्र में आधारभूत संरचना की उपलब्धि की स्थिति के

200 अंक शौचालयों की स्थिति के

200 अंक वार्डो में हरियाली और सौन्दर्यीकरण के

200 अंक सिटीजन पार्टिसिपेट

200 अंक सिटीजन फीडबैक

वर्ष 2018 में मिला था 102 वां स्थान अब किया गया है बदलाव

स्वच्छता सर्वेक्षण 2019 के मानकों में बदलाव किया गया है. अब इसमें पूर्णाक पांच हजार का होगा. आपको बता दें कि स्वच्छता सर्वेक्षण 2018 में पूर्णाक चार हजार अंकों का था. शहरी विकास मंत्रालय द्वारा जो पूर्णाक जारी किया गया है, उसमें भौतिक सत्यापन, सिटीजन का फीडबैक, दस्तावेजों की जांच आदि को सम्मिलित किया जाएगा. इस बार के स्वच्छता सर्वेक्षण में खास बात ये रहेगी कि शहर को स्टार रेटिंग मिलेगी. उससे ही फंड का निर्धारण होगा. आपको बता दें कि स्वच्छता सर्वेक्षण 2018 में शहर को देश में 102वां स्थान मिला था. गत वर्ष स्वच्छता सर्वेक्षण में शहर को प्रदेश में 9वां और देश में 263 वां स्थान मिला था. पिछले दो वर्षो में नगर निगम ने अपनी स्थिति में काफी सुधार किया है.

टीम करेगी भौतिक सत्यापन

जनवरी में स्वच्छता सर्वेक्षण में भौतिक सत्यापन करने के लिए दिल्ली से टीम आएगी. जो शहर में सफाई व्यवस्था को परखेगी. उसके हिसाब से ही अंक दिए जाएंगे और रैंकिंग होगी. उसी के हिसाब से फंडिंग होगी.

अब तक आगरा की ये रही स्थिति

- वर्ष 2016 में देश के 75 शहरों में स्वच्छता सर्वेक्षण किया गया था. इसमें आगरा 45वें स्थान पर रहा था.

- वर्ष 2017 में देश के 410 शहरों में स्वच्छता सर्वेक्षण में आगरा प्रदेश में 9वें और देश में 263वें स्थान पर रहा था.

- वर्ष 2018 में देश के चार हजार शहरों में स्वच्छता सर्वेक्षण किया गया. आगरा देश में 102वें स्थान पर और प्रदेश में पांचवे स्थान पर रहा था.