-बिहार इंटर कम्पार्टमेंटल का रिजल्ट घोषित

श्चड्डह्लठ्ठड्ड@द्बठ्ठद्ग3ह्ल.ष्श्र.द्बठ्ठ

क्कन्ञ्जहृन्: बिहार बोर्ड ने रविवार को इंटर कंपार्टमेंटल का रिजल्ट घोषित कर दिया. इस बार का परिणाम बेहद खराब आया है. इसमें ओवरऑल पास परसेंटेज मात्र 38.78 प्रतिशत रहा. जबकि बीते वर्ष यह परिणाम 71.36 रहा. बिहार बोर्ड के अनुसार इस कंपार्टमेंटल एग्जाम में कुल 90063 परीक्षार्थी असफल हुए हैं. इसमें से 55149 छात्र हैं जबकि 34914 छात्राएं हैं. बोर्ड अध्यक्ष आनंद किशोर रिजल्ट की घोषणा के बाद बताया कि रिजल्ट बोर्ड की वेबसाईट पर डाल दिया गया है. उन्होंने बताया कि इंटरमीडिएट कंपार्टमेंट परीक्षा में कुल 155003 स्टूडेंट्स ने परीक्षा फॉर्म भरा था जिसमें से 152504 स्टूडेंट्स ही परीक्षा में शामिल हो सके थे. शामिल परीक्षार्थियों में कुल 50147 छात्र ही सफल रहे.

दो विषयों में फेल हुए थे शामिल

इंटर कंपार्टमेंटल परीक्षा 13 से 20 जुलाई के बीच आयोजित की गई थी. परीक्षा में कदाचार के आरोप में 28 परीक्षार्थियों को निष्कासित किया गया था. मालूम हो कि इंटर की मुख्य परीक्षा में दो विषयों में फेल होने वाले परीक्षार्थियों को कंपार्टमेंटल परीक्षा में शामिल होने का मौका दिया गया था. इंटर की कंपार्टमेंटल परीक्षा में शामिल होने के लिए कुल 1 लाख, 55 हजार, 003 परीक्षार्थियों ने आवेदन दिया था, जिसमें 1 लाख, 52 हजार, 504 छात्र परीक्षा में शामिल हुए थे.

कुल 90063 स्टूडेंट्स असफल

कंपार्टमेंटल में 90063 स्टूडेंट्स असफल हुए हैं. 55149 छात्र हैं जबकि 34914 छात्राएं हैं. इंटरमीडिएट कंपार्टमेंटल परीक्षा में सबसे बेहतर रिजल्ट वाणिज्य संकाय का रहा है.वाणिज्य संकाय में सफल छात्रों का प्रतिशत सबसे अधिक है. 1091 में से 504 छात्र सफल हुए हैं.

अटका रिजल्ट

कंपार्टमेंटल परीक्षा में 2555 परीक्षार्थियों ने वस्तुनिष्ठ प्रश्नों के ओएमआर आधारित उत्तर पत्रक में प्रश्न पत्र सेट का कोड ही नहीं लिखे. इससे उनके वस्तुनिष्ठ प्रश्नों के उत्तर के लिए ओएमआर का मूल्यांकन नहीं हो सका.