-बांका उन्नयन योजना पूरे बिहार में होगी प्रभावी

श्चड्डह्लठ्ठड्ड@द्बठ्ठद्ग3ह्ल.ष्श्र.द्बठ्ठ

क्कन्ञ्जहृन्: डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी ने कहा है कि प्रदेश के सरकारी स्कूलों में नौवीं-दसवीं की कक्षाओं के विद्यार्थियों के लिए स्मार्ट क्लास शुरू होंगी. जहां बच्चे वर्चुअल माध्यम से ऑफलाइन और ऑनलाइन पढ़ाई कर सकेंगे. मोदी बुधवार को श्रीकृष्ण मेमोरियल हॉल में आयोजित शिक्षक दिवस समारोह को संबोधित कर रहे थे.

बिना टीचर भी ले सकेंगे ज्ञान

डिप्टी सीएम सुशील मोदी ने कहा, समय के साथ पढ़ाई का ट्रेंड बदल गया है. पहले बच्चे गुरुकुल जाकर पढ़ाई करते थे अब बगैर शिक्षक के भी छात्र ज्ञान पा सकते हैं. उन्होंने कहा वर्तमान में बदलते दौर में राज्य सरकार भी शिक्षा को गुणवत्तापूर्ण बनाने के लिए कई कार्य कर रही है. इसी कड़ी में अब स्मार्ट क्लासेज की परिकल्पना की गई है. उन्होंने कहा सरकारी स्कूलों में नौवीं-दसवीं के विद्यार्थियों के लिए यह व्यवस्था की जा रही है. बांका के डीएम कुंदन कुमार ने डिजिटल क्लास रुम की कल्पना को साकार करते हुए बांका उन्नयन का नाम दिया है. जिसे बिहार के सभी जिलों में प्रभावी करने की योजना है.

साइकिल में व‌र्ल्ड रिकॉड

साइकिल योजना के बारे में कहा कि अब तक 1.30 करोड़ लड़के-लड़कियों को साइकिल वितरित की गई है. यह अपने आप में विश्व कीर्तिमान है. पोशाक के लिए सरकारी स्कूल के कक्षा एक से आठ के बच्चों को पोशाक राशि देने में भी विश्व रिकॉर्ड कायम हो गया है. सरकार एक करोड़ बच्चों को पोशाक के लिए राशि दे रही है. सेनेटरी नैपकिन की राशि को भी सालाना डेढ़ सौ रुपये से बढ़ाकर तीन सौ कर दिया गया है. मोदी ने कहा शिक्षा के लिए विकास के लिए सरकार राशि की कोई कमी नहीं होने देगी.

शिक्षकों की बदौलत देश आगे

अध्यक्षीय भाषण में शिक्षा मंत्री कृष्णनंदन प्रसाद वर्मा ने कहा कि भारतीय परंपरा में शिक्षक हमेशा से पूज्यनीय रहे हैं. शिक्षकों की मेहनत और सरकार की चाह की वजह से आज शिक्षा में काफी सुधार हो रहा है. उन्होंने कहा दुनिया में यदि आज कोई भी देश आगे है तो सिर्फ शिक्षकों की मेहनत की वजह से. शिक्षकों की स्थिति में सुधार के लिए विश्व बैंक से करार किया गया है. इस पर 2,234 करोड़ रुपये खर्च किए जाने हैं. उच्च शिक्षा में भी सुधार की जा रही है.