आगरा. टीचर्स को सीसीएल (चाइल्ड केयर लीव) और मेटिरनिटी लीव के लिए अब कार्यालय के चक्कर लगाने की जरूरत नहीं पड़ेगी. लीव के लिए अब ऑनलाइन आवेदन किए जा सकेंगे. इससे टीचर्स को खासी राहत मिलने की उम्मीद है.

परिषदीय विद्यालयों में तैनात टीचर्स को लीव के लिए कार्यालय के चक्कर लगाने पड़ते थे. इसके लिए पटल पर तैनात क्लर्क को सुविधा शुल्क भी दिया जाता रहा है. लेकिन शासन से जारी निर्देशों पर अमल से करप्शन पर पूरी तरह से अंकुश लगाया जा सकेगा. अब मोबाइल पोर्टल के माध्यम से वह सीसीएल और मेटरनिटी लीव एप्लाई कर सकेंगे.

पोर्टल एप से रुकेगा फर्जीवाड़ा

नाम नहीं छापने की शर्त पर नगर क्षेत्र में तैनात एक शिक्षिका ने बताया कि उन्होंने एक महीने पूर्व लीव के लिए आवदेन किया था. लेकिन अभी तक लीव स्वीकृत नहीं की गई है. अवकाश के लिए बीआरसी पर तैनात बाबू सुविधा शुल्क लेकर सर्विस बुक से लीव हटा दिया करते थे. कभी कभी पूरी की पूरी सर्विस बुक ही चेंज करा दी जाती थी. अब मोबाइल पोर्टल एप से इस तरह के फर्जीवाड़े पर अंकुश लग सकेगा.