PATNA : राज्य सराकार ने कुशल युवा कार्यक्रम के तहत चल रहे प्रशिक्षण की मॉनीट¨रग और सख्त करने का निर्णय लिया है. साथ ही सरकार ने इस सत्र से कौशल विकास के पाठ्यक्रम को अपडेट कर दिया है. इसे ध्यान में रखते हुए सभी 1500 कौशल विकास केंद्रों पर प्रशिक्षण प्रक्रिया की निगरानी बढ़ा दी गई है. इसके लिए जिला स्तर पर सेल गठित किया गया है. खासकर क्लास रूम की निगरानी सख्ती के साथ होगी. इस दौरान अगर किसी भी तरह की लापरवाही पाई गई तो संबंधित अफसर पर कार्रवाई की जाएगी. साथ ही जीएसटी का रिटर्न भरने के लिए भी अब कौशल विकास केंद्रों का उपयोग होगा.

-ऑनलाइन सर्विस का भी मिलेगा प्रशिक्षण

श्रम संसाधन विभाग के प्रधान सचिव दीपक कुमार सिंह ने बताया कि कौशल विकास कार्यक्रम के पाठ्यक्रम को अपग्रेड किया गया है. प्रशिक्षण कोर्स में ऑनलाइन सर्विस को भी जोड़ा गया है. जून तक 450 केंद्र और खुल जाएंगे. ट्रेनिंग मॉडल को ध्यान में रखते हुए चरणबद्ध तरीके से सभी ट्रेनरों को ट्रेनिंग दिलाई जा रही है. अभी 240 घंटे के पाठ्यक्रम में 120 घंटे लैब में और 120 घंटे का प्रशिक्षण क्लास रूम में चलता है. कौशल विकास मिशन इसका ऑनलाइन मॉनीटरिंग करता है.