हजारों की मदद करने वाले NRI अशरफ ने की मदद

दुबई के सरकारी कागजों में अशरफ के नाम वाला 'अशरफ शेरी थामारासेरी' केरल के निवासी हैं। 44 साल के अशरफ ही यूएई में मरने वाले लोगों को स्वदेश भेजने में मदद करते हैं। अशरफ ने कर्ज तले डूबे श्रमिकों से लेकर अमीरों तक के 4,700 शवों को दुनियां के 38 देशों तक भेजने में मदद कर चुके हैं।

अशरफ की मदद से भारत आ पाई श्रीदेवी की बॉडी,जानिए 4,700 लोगों की मदद कर चुके शख्‍स की कहानी

अपने पीछे इतनी संपत्ति छोड़ गई हैं श्रीदेवी

ऐसा क्‍यों करते हैं अशरफ

अशरफ इसे उन लोगों के प्रति अपनी नैतिक जिम्मेदारी मानते हैं जिन्हें अपना घर छोड़कर इस रेगिस्तानी देश में रहना पड़ता है। उनका कहना है कि वह यह सब दुआ हासिल करने के लिए करते हैं। वो ऐसा इसलिए भी करते हैं कि जब यहां किसी की मौत होती है तो उसकी बॉडी को स्वदेश भेजने की प्रक्रिया के बारे में परिवार वालों को ठीक से कुछ भी पता नहीं होता है। इसलिए अशरफ ऐसे लोगों की मदद करने को हमेशा आगे रहते हैं।


चांदनी को अलविदा! पूरे राजकीय सम्‍मान के साथ हुआ श्रीदेवी का अंतिम संस्‍कार

National News inextlive from India News Desk