RAIBARELI: इस हादसे में वहां पर काम कर रहे 200 से ज्यादा अधिकारी, कर्मचारी व मजदूर बेहद गर्म राख के ढेर में दब गए. अब तक 117 से ज्यादा घायलों को विभिन्न अस्पतालों में भर्ती कराया गया है. प्रमुख सचिव गृह अरविंद कुमार ने हादसे में 18 लोगों की मौत की पुष्टि करते हुए बताया कि गंभीर रूप से झुलसे 22 घायलों को लखनऊ रेफर किया गया है. राहत व बचाव कार्य को चलाने के लिये एनडीआरएफ टीम घटनास्थल पर पहुंच गई है. सीएम योगी आदित्यनाथ ने मृतकों के परिजनों को 2-2 लाख रुपये, गंभीर रूप से घायलों को 50-50 हजार रुपये और मामूली घायलों को 25-25 हजार रुपये देने की घोषणा की है. सीएम के आदेश पर मंत्री नंदगोपाल गुप्ता नंदी, स्वामी प्रसाद मौर्य और सुरेश खन्ना भी रायबरेली पहुंच गए हैं. वहीं, सांसद सोनिया गांधी ने प्रदेश कांग्रेस प्रभारी गुलाम नबी आजाद व प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर को रायबरेली पहुंचने के निर्देश दिये हैं.

नेशनल थर्मल पावर कॉरपोरेशन ऊंचाहार प्लांट की नवनिर्मित 500 मेगावॉट की छठी यूनिट में बुधवार को प्रोडक्शन चल रहा था. शाम करीब चार बजे बॉयलर की ऐश पाइप अचानक चोक हो गई और बॉयलर में तेज आवाज के साथ ब्लास्ट हो गया. करीब 90 फीट की ऊंचाई पर हुए विस्फोट से बॉयलर की जलती हुई राख प्लांट में चारों ओर फैल गई. इससे वहां पर भीषण आग लग गई. उस दौरान वहां पर 200 से ज्यादा अधिकारी, कर्मचारी और प्राइवेट कंपनी के मजदूर काम में जुटे हुए थे. सब कुछ इतना अचानक हुआ कि किसी को भी संभलने का मौका नहीं मिला और वहां काम कर रहे सभी राख की चपेट में आकर उसी के नीचे दब गए. हादसे की सूचना पर एनटीपीसी प्लांट की दूसरी यूनिटों में काम कर रहे अधिकारी, कर्मचारी और मजदूर आनन-फानन वहां पहुंच गए. आग पर काबू करने के बाद राख के नीचे दबे कर्मचारियों को बाहर निकालने का काम शुरू हुआ. सबसे पहले घायलों को एनटीपीसी हॉस्पिटल लाया गया.

घायलों की हालत को देखते हुए उन्हें रायबरेली जिला अस्पताल और लखनऊ रेफर किया जाने लगा. रात 10.30 बजे तक एनटीपीसी हॉस्पिटल में 110 और सीएचसी में 7 घायलों को भर्ती कराया गया. जहां से गंभीर रूप से झुलसे 22 घायलों को लखनऊ रेफर कर दिया गया इनमें एनटीपीसी के एडिशनल जीएम प्रभात श्रीवास्तव, मिश्रीलाल और संजीव सक्सेना भी शामिल हैं. अब तक मृत घोषित हुए 18 लोगों में से बिहार निवासी कंचन और हबीबुल्ला, लखनऊ निवासी संजय पटेल, मध्यप्रदेश निवासी रामरतन और देशराज की शिनाख्त हो सकी है. घायलों की इतनी भारी तादाद को देखते हुए लखनऊ स्थित ट्रॉमा सेंटर, लोहिया हॉस्पिटल व सिविल हॉस्पिटल को अलर्ट पर रखा गया है. सभी डॉक्टर्स और पैरामेडिकल स्टाफ को तुरंत ड्यूटी पर पहुंचने को कहा गया है. कमिशनर अनिल गर्ग, आईजी जयनारायण सिंह और एडिशनल डायरेक्टर हेल्थ भी मौके पर पहुंच गए हैं.

कंट्रोल रूम नंबर

0535-2703301, 2703401, 2703201