mohar.basu@mid-day.com

MUMBAI: 'सिनेमा में वर्सेटाइल स्टोरीज सुनाने का स्कोप होता है', यह कहकर अपनी बात शुरू करने वाली एक्ट्रेस नुसरत भरूचा का कहना है कि उन्हें अपने अपकमिंग प्रोजेक्ट हुड ̧दंग पर प्राउड फील हो रहा है क्योंकि इस मूवी में एक बहादुरी भरे सब्जेक्ट को छुआ गया है। भले ही उनकी सनी सिंह और विजय वर्मा स्टारर यह मूवी दिल से एक लव स्टोरी हो पर इस मूवी में कास्ट रिजर्वेशन सिस्टम और स्टूडेंट्स की जिंदगी पर उसके असर को भी दिखाया जाएगा। निखिल नागेश भट्ट के डायरेक्शन में बन रही इस मूवी में यह एक्ट्रेस 'झुल्लन' नाम की एक स्टूडेंट का रोल कर रही है। उनका कहना है, 'यह एक लव स्टोरी है जो 90 के दशक के मंडल कमीशन के बैकड्रॉप पर सेट होगी। उस वक्त स्टूडेंट्स इस रिपोर्ट के खिलाफ सड ̧कों पर आ गए थे और उन्होंने कुछ अहम सवाल खडे ̧ किए थे। आज भी आरक्षण पर बहस होती है इसलिए इसपर मूवी बनाना आज भी रेलेवेंट है।'

'मेरे जैसी ही है झुल्लन भी'
झुल्लन के किरदार में खुद को उतारने को लेकर नुसरत का कहना है कि यह रोल उनके लिए काफी नैचुरल साबित हुआ क्योंकि वह खुद को
उस लड ̧की के स्ट्रगल और बुरी सिचुएशन से सामना करने की उसकी हिम्मत से रिलेट कर पा रही थीं। उन्होंने बताया, 'एक इंसान के तौर पर मैं हमेशा सांचों को तोड ̧ती रही हूं। मैं एक बोहरा मुस्लिम फैमिली से हूं और अपने पेरेंट्स की अकेली औलाद हूं। मैं आज जहां हूं वहां तक पहुंचने के लिए मुझे कई पर्सनल बैटल्स का सामना करना पड़ा है। झुल्लन मेरा ही एक्सटेंशन है।'

फोर्ब्स की हाइएस्ट पेड सेलिब्रिटी लिस्ट जारी, अक्षय कुमार भारत के सबसे ज्यादा कमाऊ इंसान


'मैं नहीं चाहती की मेरी वजह से ऐसे पत्रकारों के घर चूल्हा जले, इसलिए मुझे बैन करो': कंगना

स्टूडेंट्स से समझी
कॉलेज लाइफ प्रयागराज में इस मूवी की शूटिंग शुरू करने से पहले नुसरत ने इलाहाबाद यूनिवर्सिटी की लड ̧कियों के साथ काफी वक्त बिताया ताकि वह कॉलेज लाइफ को करीब से देख सकें। उस दौरान हुआ अपना एक्सपीरियंस शेयर करते हुए इस एक्टे्रस का कहना था, 'उन स्टूडेंट्स से मिलकर मुझे अपना डिक्शन सही करने में बहुत मदद मिली। उन्होंने मुझे यह समझने में मदद करी कि कॉलेज लाइफ कैसी होती है।

Bollywood News inextlive from Bollywood News Desk