मुंबई (ब्‍यूरो)। फिल्म 'रेड' में पुष्पा जोशी ने करीब 85 साल की उम्र में हिंदी फिल्म में कदम रखा था। अब फिल्म 'मित्रों' में 75 वर्षीय एक स्थानीय महिला को अभिनय करने का मौका मिला है। कृतिका कामरा और जैकी भगनानी अभिनीत 'मित्रों' अतरंगी और मजेदार दोस्तों की कहानी है। फिल्म का निर्देशन 'फिल्मिस्तान' फेम नितिन कक्कड़ ने किया है। उसकी पूरी शूटिंग गुजरात में हुई है। फिल्म में बा की भूमिका के लिए एक स्थानीय महिला को कास्ट करने की पुष्टि खुद नितिन कक्कड़ ने की है। 
स्थानीय कलाकार को दिया मौका 
उनके मुताबिक, स्थानीय महिला को फिल्म में कास्ट करने की कोई पूर्व नियोजित योजना नहीं थी। उन्हें किसी प्रकार का एक्टिंग अनुभव भी नहीं है। हालांकि फिल्म की शूटिंग पूरी होने के बाद सभी ने उनके काम को काफी सराहा भी। नितिन कक्कड़ के मुताबिक, 'हम जब बा (दादी) की कास्टिंग कर रहे थे, तब सोचा कि किसी कलाकार को कास्ट करने के बजाय स्थानीय बुजुर्ग महिला को मौका दिया जाए। उससे किरदार भी वास्तविक लगेगा। सो हम शूटिंग स्थल के आसपास के क्षेत्रों में गए। वहां स्थानीय लोगों की बा से मुलाकात की। 
14 सितंबर को रिलीज होगी फिल्म 
उसके बाद हमने माया बेन मेहता को कास्ट करना तय किया। उनकी उम्र तकरीबन 75 साल है। उम्र के इस पड़ाव पर भी उनमें काफी उमंग और उत्साह है। सही मायने में वह सेट पर हम सबकी बा बन गई थीं। नॉन एक्टर के साथ काम करने के अपने फायदे या नुकसान होते हैं। हालांकि माया बेन के साथ काम का अनुभव शानदार रहा। अब वह हमारे परिवार की तरह हैं।' यह फिल्म 14 सितंबर को रिलीज होगी।'

मुंबई (ब्‍यूरो)। फिल्म 'रेड' में पुष्पा जोशी ने करीब 85 साल की उम्र में हिंदी फिल्म में कदम रखा था। अब फिल्म 'मित्रों' में 75 वर्षीय एक स्थानीय महिला को अभिनय करने का मौका मिला है। कृतिका कामरा और जैकी भगनानी अभिनीत 'मित्रों' अतरंगी और मजेदार दोस्तों की कहानी है। फिल्म का निर्देशन 'फिल्मिस्तान' फेम नितिन कक्कड़ ने किया है। उसकी पूरी शूटिंग गुजरात में हुई है। फिल्म में बा की भूमिका के लिए एक स्थानीय महिला को कास्ट करने की पुष्टि खुद नितिन कक्कड़ ने की है। 

स्थानीय कलाकार को दिया मौका 

उनके मुताबिक, स्थानीय महिला को फिल्म में कास्ट करने की कोई पूर्व नियोजित योजना नहीं थी। उन्हें किसी प्रकार का एक्टिंग अनुभव भी नहीं है। हालांकि फिल्म की शूटिंग पूरी होने के बाद सभी ने उनके काम को काफी सराहा भी। नितिन कक्कड़ के मुताबिक, 'हम जब बा (दादी) की कास्टिंग कर रहे थे, तब सोचा कि किसी कलाकार को कास्ट करने के बजाय स्थानीय बुजुर्ग महिला को मौका दिया जाए। उससे किरदार भी वास्तविक लगेगा। सो हम शूटिंग स्थल के आसपास के क्षेत्रों में गए। वहां स्थानीय लोगों की बा से मुलाकात की। 

14 सितंबर को रिलीज होगी फिल्म 

उसके बाद हमने माया बेन मेहता को कास्ट करना तय किया। उनकी उम्र तकरीबन 75 साल है। उम्र के इस पड़ाव पर भी उनमें काफी उमंग और उत्साह है। सही मायने में वह सेट पर हम सबकी बा बन गई थीं। नॉन एक्टर के साथ काम करने के अपने फायदे या नुकसान होते हैं। हालांकि माया बेन के साथ काम का अनुभव शानदार रहा। अब वह हमारे परिवार की तरह हैं।' यह फिल्म 14 सितंबर को रिलीज होगी।'

ये भी पढ़ें: बटला हाउस एनकाउंटर पर बनेगी फिल्म, 50 दिन में पूरी होगी शूटिंग


Bollywood News inextlive from Bollywood News Desk