- दिल्ली से लखनऊ तक भाजपा की सरकार फिर कांग्रेस को दोष क्यों

bareilly@inext.co.in

BAREILLY: सुप्रीम कोर्ट में राम मंदिर के मामले में सुनवाई टलने के बाद प्रदेश सरकार में मंत्री ओमप्रकाश राजभर ने थर्सडे को बड़ा बयान दिया है. राजभर ने भाजपा पर तंज कसते हुए कहा कि जनता ने उसे प्रचंड बहुमत दिया, लेकिन मंदिर बनवाने का ढिंढोरा पीटने वाले खुद नहीं चाहते कि मंदिर बने. दिल्ली से लखनऊ तक भाजपा की सरकार है तो उसके नेता कांग्रेस को क्यों दोष देते हैं? राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, राज्यपाल और मुख्यमंत्री सब भाजपा केहैं फिर कांग्रेस का क्या दोष? सुप्रीम कोर्ट में मामले की सुनवाई टलने पर उन्होंने कहा कि सुनवाई होनी चाहिए क्योकि फैसला तो कोर्ट को ही करना है.

मुद्दे नहीं हल कर पाई भाजपा

सर्किट हाउस में पत्रकारों से बात करते हुए राजभर ने कहा कि मंदिर चुनावी मुद्दा है और अगर यह बन जाएगा तो मुद्दा ही समाप्त हो जाएगा. भाजपा तीन मुद्दों को लेकर सत्ता में आई थी. हिन्दू राष्ट्र, 370 और राम मंदिर. 3 बार दिल्ली में 3 बार यूपी में सरकार रही, लेकिन एक भी मुद्दा हल नहीं हो सका. उन्होंने कहा कि भारत हिन्दू राष्ट्र नहीं बन सकता, क्योंकि जिस देश में तमाम धर्म और जाति के लोग रहते हो वह कैसे हिन्दू राष्ट्र बन सकता है.

पिछड़ी जाति के लिए लड़ रहे

ओमप्रकाश राजभर ने कहा कि वह पिछड़ी जाति के आरक्षण के बंटवारे को लेकर लड़ रहे हैं. जब एससी-एसटी में संशोधन हो सकता है तो पिछड़ी जाति को 27 से 54 प्रतिशत आरक्षण क्यों नही मिल रहा है. भाजपा चाहेगी तो हम रहेंगे वरना हम सभी 80 सीटों पर चुनाव लड़ेंगे.