-नए-नए वस्त्र धारण कर भगवान शिव व पार्वती की पूजा-अर्चना करतीं हैं

-बाजारों में फलों व अन्य सामग्री की खरीदारी के लिए उमड़ी भीड़

JAMSHEDPUR: हरितालिका तीज व्रत रविवार को होगा. सौभाग्यवती महिलाएं भादो शुक्ल पक्ष तृतीया को यह व्रत करती हैं. महिलाएं पूरे दिन निर्जला व्रत रख अपने पति की दीर्घायु की कामना करती हैं. इस व्रत में महिला नए-नए वस्त्र धारण कर भगवान शिव व पार्वती की पूजा-अर्चना करतीं हैं. शनिवार को बाजारों में फलों व अन्य सामग्री की खरीदारी के लिए लोगों की भीड़ उमड़ी. महिलाओं ने श्रृंगार सामग्री की खरीदारी भी जमकर की. शाम को घरों में ठेकुआ, नमकीन सहित अन्य पकवान बनाए और हाथों में मेहंदी लगाई.

मनोकामना होगी पूरी

ज्योतिषाचार्य पंडित रमाशंकर तिवारी ने बताया कि भाद्रपद मास के शुक्लपक्ष की तृतीया तिथि को हरितालिका तीज का सुख सौभाग्यदायी व्रत है. इस व्रत को महिलाएं अपने सुख सौभाग्य की रक्षा के साथ मनोकामना की सिद्घि हेतु करेंगी. पौराणिक मान्यताओं के अनुसार इस व्रत को सर्वप्रथम माता पार्वती ने भगवान भोले शंकर को पति के रूप में प्राप्त करने के लिए किया था. फलस्वरूप उनका मनोरथ सिद्ध हुआ. उसी समय से अखंड सौभाग्य एवं मनोरथसिद्घि हेतु यह व्रत स्त्रियों के द्वारा कियाजाने लगा. इस व्रत में मुख्य रूप से भगवान शिव एवं माता पार्वती का पूजन विधि-विधान से करके हरितालिका तीज की पुण्यप्रद कथा का श्रवण किया जाता है. हस्तयुक्त तृतीया उत्तम फलदायिनी मानी गयी है.

बन रहा उत्तम संयोग

इस बार रविवार को सायं ब्:भ्फ् बजे तक तृतीया तिथि रहेगी. हस्त नक्षत्र भी रविवार को अपराह्न ब्:क्8 बजे तक रहेगा. इस प्रकार इस बार हस्तयुक्त तृतीया का उत्तम संयोग बन रहा है. इस बार की तीज में रविवार को अपराह्न ब्:क्8 बजे तक सर्वार्थसिद्घि योग एवं अमृतसिद्घि योग का भी सर्वोत्तम संयोग विद्यमान है. उपरोक्त योग-संयोग के कारण इस बार की हरितालिका तीज विशेष पुण्य प्रदायक एवं मनोरथ सिद्घिप्रद है. अत: रविवार को हरितालिका तीज का व्रत एवं पूजन करना शास्त्रोचित व उत्तम फलप्रद रहेगा. व्रत का पारण सोमवार को सूर्योदय के उपरांत करना श्रेयस्कर रहेगा.

नेपाली समिति में होगा सामूहिक आयोजन

नेपाली सेवा समिति के गोलमुरी स्थित कार्यालय में सामूहिक रूप से हरितालिका तीज व्रत का आयोजन होगा. शाम तीन बजे से शुरू होने वाले इस आयोजन में शिव मंदिर के पुरोहित खेमलाल पांडेय कथा व पाठ करेंगे. आयोजन को लेकर शनिवार को छविराज दहल की अध्यक्षता में समिति की बैठक हुई. इसमें विजय कुमार दमाई सहित दुर्गा पूजा कमेटी के सदस्य व महिलाएं मौजूद थीं.