कानपुर। क्रिकेट में आए दिन रिकॉर्ड बनते और टूटते हैं। ऐसा ही एक रिकॉर्ड आज से 36 साल पहले भारत में बना था। जब एकदिवसीय मैचों के इतिहास में पहली बार हैट्रिक देखने को मिली। यह मैच पाकिस्तान बनाम ऑस्ट्रेलिया के बीच हैदराबाद में खेला गया था और हैट्रिक लेने वाले गेंदबाज जलालुद्दीन थे। जलालुद्दीन ने पाकिस्तान की तरफ से कुल 8 वनडे मैच खेले और इतने कम समय में ही उन्होंने हैट्रिक लेने का कारनामा भी कर दिया।

इन तीन बल्लेबाजों का किया था शिकार
क्रिकइन्फो के डेटा के मुताबिक, ऑस्ट्रेलिया ने इस मैच में टॉस जीतकर पाकिस्तान को पहले बल्लेबाजी का न्यौता दिया। पाक ओपनर बल्लेबाज मोहिसिन खान के शानदार शतक की बदौलत पाकिस्तान ने 229 रन का स्कोर खड़ा किया। अब कंगारुओं को यह मैच जीतने के लिए 230 रन चाहिए थे। एलन बॉर्डर, वुड और ह्युज से सजी ऑस्ट्रेलियाई टीम के लिए यह लक्ष्य मुश्किल नहीं था मगी इसे असंभव बना दिया पाक तेज गेंदबाज जलालुद्दीन ने। अपने स्पेल का 7वां ओवर फेंकने आए जलालुद्दीन ने ओवर की आखिरी तीन गेंदों में रोड मार्श, ब्रूस यार्डली और जेफ लॉसन को पवेलियन भेज हैट्रिक पूरी की। इसी के साथ जलालुद्दीन के नाम वनडे क्रिकेट में हैट्रिक लेने वाले पहले गेंदबाज के रूप में दर्ज हो गया। जलालुद्दीन के इस शानदार ओवर की बदौलत कगारू टीम लक्ष्य से 59 रन पीछे रह गई और पाकिस्तान ने मैच जीत लिया।
आज ही ली गई थी वनडे में पहली हैट्रिक,गेंदबाज था पाकिस्तानी
दूसरे मैच किया था ये कारनामा
दाएं हाथ के तेज पाकिस्तानी गेंदबाज जलालुद्दीन ने पहला वनडे मैच 1982 में श्रीलंका के खिलाफ खेला था और दूसरे मैच में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मैदान में उतरते ही उन्होंने हैट्रिक ले ली। शानदार गेंदबाज होने के बावजूद जलालुद्दीन का अंतरराष्ट्रीय करियर ज्यादा लंबा नहीं रहा। उन्होंने सिर्फ दो साल वनडे मैच खेला जिसमें 8 मैचों में उन्हें खेलने का मौका मिला और 14 विकेट अपने नाम किए। टेस्ट क्रिकेट की बात की जाए तो इस खिलाड़ी के नाम 6 मैचों में 11 विकेट दर्ज हैं।

44 गेंदबाज ले चुके हैं वनडे हैट्रिक
जलालुद्दीन के बाद वनडे क्रिकेट इतिहास में मानो हैट्रिक की झड़ी लग गई। अब तक कुल 44 गेंदबाज वनडे में हैट्रिक लेने का कारनामा कर चुके हैं। आपको जानकर हैरानी होगी कि एकदिवसीय क्रिकेट में हैट्रिक ही नहीं लगातार 4 गेंदों में 4 विकेट भी लिए गए हैं और यह कारनामा करने वाले इकलौते गेंदबाज श्रीलंका के लसिथ मलिंगा हैं। जिन्होंने साउथ अफ्रीका के खिलाफ गुयाना में यह खास रिकॉर्ड अपने नाम किया था।

तीन भारतीय भी इस लिस्ट में शामिल
वनडे में हैट्रिक लेने वाले तीन भारतीय गेंदबाज भी हैं। चेतन शर्मा ने 1987 में न्यूजीलैंड के खिलाफ, कपिल देव ने 1991 में श्रीलंका के खिलाफ तो वहीं तीसरे भारतीय गेंदबाज कुलदीप यादव हैं। चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप ने 2017 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ हैट्रिक ली थी।

भारत-पाकिस्तान दोनों टीमों की तरफ से खेल चुके हैं ये तीन खिलाड़ी


इकलौता खिलाड़ी जिसने दो टीमों की तरफ से खेलते हुए इंग्लैंड के खिलाफ मारी सेंचुरी

Cricket News inextlive from Cricket News Desk