ऐसे शुरु हुआ था क्रिकेट करियर
दुनिया में ऐसे कई लोग होते हैं जो बहुमुखी प्रतिभा के धनी माने जाते हैं। ये हर काम इतने परफेक्‍शन के साथ करते हैं कि लोग वाहवाही करते नहीं थकते। ऐसा ही एक मल्‍टी टैलेंटेड खिलाड़ी पैदा हुआ था 25 अप्रैल 1872 में, नाम है चार्ल्‍स बर्गस फ्राई जिन्‍हें सीबी फ्राई के नाम से भी जाना जाता है। इंग्‍लैंड के क्रोएडॉन में जन्‍में सीबी फ्राई ने स्‍कूली दिनों से ही क्रिकेट खेलना शुरु कर दिया था। वह खेल सिर्फ इसलिए खेलते थे कि उन्‍हें यह अच्‍छा लगता था। उनका यह शौक उन्‍हें एक प्रोफेशनल क्रिकेटर की राह पर ले गया। साल 1896 में साउथ अफ्रीका के खिलाफ फ्राई ने टेस्‍ट डेब्‍यू किया था। फ्राई दाएं हाथ के बल्‍लेबाज थे, टेस्‍ट मैच में उनके नाम 26 मैचों 1223 रन दर्ज है। इस दौरान उनका औसत 32.18 रहा। फ्राई ने अपने अंतर्रराष्‍ट्रीय करियर में 2 शतक और 7 अर्धशतक भी मारे हालांकि कभी उन्‍होंने अपने क्रिकेटिंग करियर में छक्‍का नहीं लगाया।
आज ही पैदा हुआ था वो खिलाड़ी,जिसने अपने देश के लिए क्रिकेट भी खेला और फुटबॉल भी
फर्स्‍ट क्‍लॉस क्रिकेट में सचिन से ज्‍यादा बनाए रन
25 साल की उम्र में पहला अंतर्रराष्‍ट्रीय मैच खेलने वाले फ्राई ने 16 साल बाद इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कह दिया था। 1912 में उन्‍होंने अपना आखिरी टेस्‍ट ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ खेला था मगर फर्स्‍ट क्‍लॉस क्रिकेट में वह गेंदबाजों के नाक में दम कर चुके थे। इस इंग्‍लिश बल्‍लेबाज का फर्स्‍ट क्‍लॉस करियर देखें तो क्रिकेट के भगवान सचिन तेंदुलकर भी पीछे रह जाते हैं। सचिन के नाम 310 मैचों में 25,396 रन दर्ज हैं वहीं फ्राई ने 394 फर्स्‍ट क्‍लॉस मैच खेलकर 30,886 रन बना डाले। इस दौरान उनके बल्‍ले से 94 शतक निकले जोकि सचिन से 13 शतक ज्‍यादा हैं।

49 साल की उम्र तक खेला क्रिकेट
सीबी फ्राई की एक खासियत थी कि वह अपने शरीर को काफी फिट रखते थे। 40-45 की उम्र तक जहां क्रिकेटर क्रिकेट से दूरी बना लेते हैं। वहीं फ्राई ने अपना आखिरी फर्स्‍ट क्‍लॉस मैच 49 साल की उम्र में खेला था। करीब 29 साल लंबे प्रथम श्रेणी करियर में फ्राई ने ढेरों रिकॉर्ड अपने नाम किए।
आज ही पैदा हुआ था वो खिलाड़ी,जिसने अपने देश के लिए क्रिकेट भी खेला और फुटबॉल भी
इंग्‍लैंड के लिए खेला है फुटबॉल मैच
सीबी फ्राई दुनिया के शायद इकलौते ऐसे खिलाड़ी होंगे जिन्‍होंने अपने देश के लिए क्रिकेट और फुटबॉल दोनों मैच खेले। एक तरफ जहां वह क्रिकेट की पिच पर चौके-छक्‍के लगा रहे थे। वहीं फुटबॉल मैदान पर भी उन्‍होंने खूब गोल दागे हैं। 20वीं सदी की शुरुआत में फ्राई इंग्‍लैंड के फुटबॉल क्‍लब साउथएंपटन का हिस्‍सा रहे हैं। इस क्‍लब के लिए उन्‍होंने 16 मैच खेले हैं वहीं पोर्ट्समाउथ की तरफ भी वह दो मैच खेल चुके हैं। मगर सबसे बड़ा मोमेंट तो तब आया जब 1901 में फ्राई इंग्‍लैंड की नेशनल फुटबॉल टीम के सदस्‍य बने और 9 मार्च को आयरलैंड के खिलाफ उन्‍होंने अपने देश के लिए फुटबॉल मैच खेला।

एथलेटिक्‍स में भी कमाया नाम
सिर्फ क्रिकेट, फुटबॉल ही नहीं एथलेटिक्‍स में भी फ्राई बढ़-चढ़कर हिस्‍सा लेते थे। लॉंग जंप में उनके नाम एक वर्ल्‍ड रिकॉर्ड भी दर्ज है। सभी खेलों से संन्‍यास के बाद फ्राई अध्‍यापक बन गए और दो साल इस प्रोफेशन में रहने के बाद उन्‍होंने जर्नलिज्‍म का रुख कर लिया। इसके बाद वह राजनीति के क्षेत्र में भी आए। साल 1965 में 84 साल की उम्र में फ्राई इस दुनिया को अलविदा कह गए।

Cricket News inextlive from Cricket News Desk