नवनिर्मित ताराकोट मार्ग को चुन सकते
जम्मू (पीटीआई)। अगर आप भी वैष्णों देवी जाने का प्लान कर रहे हैं तो नवनिर्मित ताराकोट मार्ग को चुन सकते हैं।सुगम यात्रा के लिए नवनिर्मित ताराकोट मार्ग श्रद्धालुओं को बहुत ज्यादा पसंद आ रहा है। शायद तभी इस रास्ते को शुरू हुए अभी एक महीना भी नहीं हुआ आैर अब तक इस रास्ते से करीब एक लाख श्रद्धालु माता के दरबार पहुंच चुके हैं।इस बात की जानकारी श्री माता वैष्णोदेवी श्राइन बोर्ड (एसएमवीडीबी) के प्रवक्ता ने दी है।

रास्ता शुरू हुए एक महीना भी नहीं हुआ
एसएमवीडीबी के प्रवक्ता के मुताबिक यहां एक महीने से भी कम समय में, एक लाख से अधिक पैदल तीर्थयात्रियों ने माता वैष्णों देवी की गुफा में जाने के लिए इस रास्ते का प्रयेाग किया। इसके अलावा वापसी कटरा से की। बीते 13 मर्इ को कटरा और आ‌र्द्धकुंवारी के बीच सात किलोमीटर लंबे ताराकोट मार्ग को  श्रद्धालुओं के लिए खोला गया था। 19 मई को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसका औपचारिक उद्घाटन भी किया था।

हर सुख-सुविधा का ख्याल रखा जा रहा
नवनिर्मित ताराकोट मार्ग पर श्रद्धालुओं की हर सुख-सुविधा का विशेष ख्याल रखा जा रहा है। श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए इस नए मार्ग पर  पहले ही छह रेस्तरां बनाए गए हैं।इसके अलावा अब तीन अतिरिक्त खोखे बनाए जा रहे हैं। एेसे में इनमें श्रद्धालुओं के लिए ठंडे और गर्म खाने-पीने का सामान उपलब्ध होगा।इसके अलावा 13 आरओ युक्त पीने के पानी के प्वाइंट होने के साथ ही छह अल्ट्राफिल्टर्ड पानी के एटीएम लगाए गए हैं।  

श्रद्धालुओं को पसंद आ रहा यह मार्ग

श्री माता वैष्णों देवी श्राइन बोर्ड के प्रवक्ता ने यह भी बताया कि इस रास्ते की सफार्इ का भी विशेष ध्यान रखा जा रहा है। चौबीस घंटे मशीनों से सफाई की जा रही है।इसके अलावा जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल एवं श्राइन बोर्ड के चेयरमैन एनएन वोहरा के निर्देश पर मार्ग पर यहां पौधरोपण आैर गमले भी लगाए हैं। खास बात तो यह है कि इस मार्ग के बनने से पुराने मार्ग पर श्रद्धालुओं की भीड़ कम हुई है। श्रद्धालुओं  को यह मार्ग पसंद आ रहा है।

नेक चंद ने दी थी चंडीगढ़ को ये अनमोल धरोहर, कबाड़ से बने राॅक गार्डन की खूबसूरती देख ठहर जाएगी नजर

HC में याचिका दायर कर इस सांसद ने की संसद में पीएम मोदी की अटेंडेंस चेक कराने की मांग

National News inextlive from India News Desk