11 को होगा वनवे ट्रैफिक का असली टेस्ट

- मंडे से स्कूल हजरंतगंज के सभी बड़े स्कूल

- कमिश्नर ने एसएसपी और नगर आयुक्त के साथ किया वन-वे ट्रैफिक का निरीक्षण

lucknow@inext.co.in

LUCKNOW: शहर का दिल माने जाने वाले हजरतगंज एरिया में गुरुवार से आधा दर्जन चौराहों पर ट्रैफिक व्यवस्था को वन वे कर ट्रैफिक व्यवस्था को सुधारने के लिए पहल की गई, पहले दिन तो कमोवेश सब ठीक रहा लेकिन जानकार मान रहे हैं कि इसका असली टेस्ट मंडे को खुल रहे स्कूल के बाद ही होगा.

पब्लिक से सहयोग की अपील

वन वे ट्रैफिक व्यवस्था लागू होने के पहले दिन कमिश्नर महेश कुमार गुप्ता ने गुरुवार को वन-वे ट्रैफिक व्यवस्था को विभिन्न चौराहों पर एसएसपी और नगर आयुक्त के साथ जाकर देखा. कमिश्नर ने वन वे ट्रैफिक व्यवस्था की सराहना की. उन्होंने कहा कि पब्लिक ने ट्रैफिक व्यवस्था को सुचारू बनाये जाने के जिला प्रशासन और पुलिस के प्रयास में भरपूर सहयोग किया है.

हिंदी संस्थान तिराहा बंद करने की सलाह

कमिश्नर ने हजरतगंज के अल्का तिराहा, बैंक ऑफ इंडिया चौराहा, सहारा चौराहा, सिकन्दरबाग चौराहा, एसबीआई तिराहा, चिरैया झील तिराहा, हिन्दी संस्थान तिराहा, लालबाग तिराहा, बापू भवन चौराहा, सहित विभिन्न चौराहों का निरीक्षण किया. इस दौरान उन्होंने जिलाधिकारी निवास के सामने ट्रैफिक को और गतिशील और जाम मुक्त करने के उद्देश्य से हिन्दी संस्थान तिराहा को बंद करने और चिरैया झील तिराहा की ट्रैफिक व्यवस्था सही करने पर विचार करने के लिए एसएसपी और नगर आयुक्त को निदेर्1श दिये.

बॉक्स

टाइम मैनेजमेंट पर फोकस करने की जरूरत

कमिश्नर ने एसएसपी और नगर आयुक्त से कहा कि स्कूल खुलने वाले हैं और इस कारण स्कूलों के खुलने और बंद होने के समय सड़कों पर ट्रैफिक दबाव बढ़ना स्वाभाविक है. इसलिए उनके खुलने और बंद होने के समय को भी ट्रैफिक की सहूलियत को ध्यान मे रखते हुए टाइम मैनेजमेंट पर ध्यान दिये जाने की जरूरत है. पुलिस प्रशासन, जिला प्रशासन की जिम्मेदारी है कि पब्लिक को ट्रैफिक व्यवस्था में कोई परेशानी न हो.