नर्इ दिल्ली (पीटीआर्इ)। अगस्त में आॅनलाइन नियुक्तियों में 17 प्रतिशत की उछाल दर्ज की गर्इ है। नौकरी डाॅट काॅम की एक रिपोर्ट के मुताबिक इंश्योरेंस, कंस्ट्रक्शन आैर इंजीनियरिंग सेक्टर की बदौलत आने वाले महीनों में भी नौकरियों की भरमार बनी रहेगी। नौकरी जाॅबस्पीक इंडेक्स अगस्त 2018 में 17 प्रतिशत उछाल के साथ यह 2,161 के स्तर पर रहा जबकि इसी महीने 2017 में यह 1,851 के स्तर पर था। जाॅब पोर्टल के अनुसार, इंश्योरेंस में 68 फीसदी आैर कंस्ट्रक्शन/इंजीनियरिंग के क्षेत्र में नियुक्तियों के मामले में 22 प्रतिशत की बढ़ोतरी दर्ज गर्इ है। इस साल अगस्त के दौरान आॅयल एंड गैस इंडस्ट्री में 36 प्रतिशत ज्यादा नौकरियां देखी गर्इं। ध्यान रहे कि यह क्षेत्र अपने रिवाइवल मोड में है।

युवा टैलेंट के लिए नौकरी बाजार में ज्यादा मौके
नौकरी डाॅट काॅम के सेल्स अधिकारी वी सुरेश ने कहा कि जाॅबस्पीक इंडेक्स में पिछले कुछ महीनों से हलचल देखी जा रही है। आने वाले महीनों में भी इसमें बढ़ोतरी की उम्मीद है। उन्होंने कहा कि यह ध्यान देने वाली बात है कि नाॅन आर्इटी क्षेत्र की कंपनियों में यह बढ़त देखने को मिल रही है जैसे आॅटो, रियल इस्टेट, कंस्ट्रक्शन आैर बीएफएसआर्इ। आर्इटी आैर आर्इटीर्इएस सेक्टरों में भी धीमी बढ़त है। रिपोर्ट के मुताबिक इस दौरान युवा टैलेंट के लिए रोजगार के ज्यादा मौके सृजित हुए हैं। फ्रेशर्स जिसमें 0-3 साल तक के अनुभवी लोगों की डिमांड अगस्त के महीने में ज्यादा रही। एेसे लोगों को 19 फीसदी ज्यादा रोजगार के मौके मिले। 4-7 साल तक के अनुभव वालों के लिए नौकरी बाजार में 17 प्रतिशत ज्यादा मौके मिले वहीं 8-12 साल तक के अनुभव के लोगों के लिए 15 फीसदी ज्यादा मौके थे।

अगस्त के दौरान सबसे ज्यादा नौकरी पुणे में
16 साल के अनुभव वाले लीडरशिप रोल वाले लोगों के रोजगार के मौकों में 11 प्रतिशत की बढ़ोतरी देखने को मिली। रिपोर्ट में आगे कहा गया है कि महानगरों में रोजगार के मौकों में सकारात्मक बढ़ोतरी देखने को मिली। अगस्त महीने के दौरान दिल्ली/एनसीआर में 12 प्रतिशत ज्यादा नियुक्तियां हुर्इं। चेन्नर्इ में 18 फीसदी ज्यादा, मुंबर्इ में 22 प्रतिशत ज्यादा, हैदराबाद में 11 प्रतिशत ज्यादा, कोलकाता में 21 प्रतिशत ज्यादा आैर पुणे में 26 प्रतिशत ज्यादा नौकरियों के मौके मिले। नौकरी सूचकांक के ये आंकड़े वेबसाइट पर अगस्त महीने के दौरान नौकरियों की लिस्टिंग के आधार पर तैयार किया गया है। रिपोर्ट के लिए आधार वर्ष जुलार्इ 2008 तय किया गया है।

Business News inextlive from Business News Desk