क्त्रन्हृष्ट॥ढ्ढ : राजधानी रांची समेत पूरे झारखंड में प्रधानमंत्री आवास योजना का बुरा हाल है. वित्तीय वर्ष 2018-19 के पांच माह गुजर चुके हैं, लेकिन 13 जिलों में मात्र पांच पीएम आवास निर्माण का ही काम पूरा हो सका है. रांची जिले की बात करें तो सरकार ने 6850 लोगों को आवास देने का लक्ष्य निर्धारित किया है, लेकिन बीते पांच महीने में एक भी आवास का निर्माण पूरा नहीं हो पाया है. अब तक रांची में 361 पीएम आवास का काम विंडो लेबल तक पहुंचा है. वहीं इसकी दूसरी किस्त भी लाभुकों को जारी नहीं की गई है.

13 जिले हैं फिसड्डी

पीएम आवास योजना ग्रामीण का हाल अन्य जिलों में भी बुरा हाल है. अब तक राज्य के 13 जिलों के जो आंकड़े निकल कर सामने आए हैं वेा काफी निराशाजनक हैं. 13 जिलों में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत बीते पांच महीने में मात्र 14 आवास ही कंप्लीट हो पाए हैं. वित्तीय वर्ष 2018-19 में इन जिला ंमें 72 हजार 54 आवास के निर्माण का लक्ष्य निर्धारित किया गया था जिनमें से मात्र आठ हजार ही आवास विंडो लेबल तक पहुंचे हैं.

विभाग गंभीर, लिखा पत्र

इस सबंध में ग्रामीण विकास विभाग ने सभी जिला के डीडीसी को पत्र लिखकर पीएम आवास में तेजी लाने का निर्देश दिया है. ग्रामीण विकास विभाग के प्रधान सचिव अविनाश कुमार ने सभी 13 जिलों के डीडीसी को कहा है कि वर्तमान में पीएम आवास के अन्तर्गत राज्यस्तरीय संधारित बैंक खाता का पर्याप्त राशि उपलब्ध है इसलिए काम में तेजी लाई जाए.

किस जिले में क्या है स्थिति

जिला- लक्ष्य - विंडो स्तर- पूर्ण आवास

बोकारो- 6570- 1661-0

चतरा- 5900- 288--1

देवघर- 7270- 1195-1

धनबाद- 5970- 861-0

गिरिडीह - 8850- 1127-2

जामताड़ा- - 5300- 1488-2

कोडरमा- 2850-167-0

लोहरदगा- 3150-348-2

पाकुड़- 4720-158-2

रांची- 6850-361-0

साहेबगंज- 6900-159-2

सरायकेला-खरसांवा 3900-278-0

सिमडेगा- 3824- 675-2

कुल - 72,054- 8776-14