PATNA : दैनिक जागरण आई नेक्स्ट की खबर का बड़ा असर हुआ है। पीएमसीएच के प्लास्टिक सर्जरी विभाग के बंद ताले खुल गए हैं। शुक्रवार को ऑपरेशन भी किया गया और नर्से भी काम पर लौट आईं। पीएमसीएच के दो विभागों के विवाद के कारण बीते गुरुवार को प्लास्टिक सर्जरी विभाग में ऑपरेशन कार्य प्रभावित हो गया था। 1500 नर्सो का वेतन पिछले चार माह से अटका हुआ था जिस वजह से उन्होंने कार्य का बहिष्कार कर दिया था। इस मुद्दे को दैनिक जागरण आई नेक्स्ट ने 17 मई के अंक में प्रमुखता से उठाया था। खबर छपने के बाद अस्पताल प्रशासन में हड़कंप मच गया। नर्सो को पांच दिनों के अंदर वेतन की समस्या खत्म करने का आश्वासन दिया गया। साथ ही चार दिनों के अंदर प्लास्टिक सर्जरी और यूरोलॉजी विभाग के कर्मचारियों को विवाद सुलझाने के लिए कहा गया है।

ऑपरेशन कार्य हुआ बहाल

प्लास्टिक सर्जरी विभाग का चेजिंग रूम जहां पर डॉक्टर और नर्स ऑपरेशन से पूर्व कपड़ा चेंज करते हैं उसे अस्पताल प्रशासन की ओर से यूरोलॉजी विभाग को आवंटित कर दिया गया है। कमरा आवंटित होते ही यूरोलॉजी विभाग के डॉक्टरों ने चेजिंग रूम में ताला जड़ दिया था। इससे नाराज प्लास्टिक सर्जरी विभाग के डॉक्टरों ने ऑपरेशन टाल दिया था। खबर छपने के बाद अस्पताल प्रशासन ने हस्तक्षेप किया तब प्लास्टिक सर्जरी विभाग में ऑपरेशन शुरू हुआ।

नर्सो को जल्द मिलेगा वेतन

चार माह से बिना वेतन के काम कर रहीं नर्सो ने गुरुवार को कार्य बहिष्कार कर दिया था। जिस वजह से अस्पताल के मुख्य इमरजेंसी, प्रसूति विभाग, बच्च वार्ड, हथुआ वार्ड सहित अन्य वार्डो में मरीजों को इंजेक्शन लगाने तक का काम नहीं हुआ था। जब इस मुद्दे को दैनिक जागरण आई नेक्स्ट ने उठाया तो पीएमसीएच प्रशासन ने नर्सों की शर्त को मानते हुए उन्हें पांच दिनों के अंदर वेतन देने की बात कही। इसके बाद नर्स ड्यूटी पर लौट आई।