bareilly@inext.co.in

BAREILLY: उत्तर प्रदेश बीएड संयुक्त प्रवेश परीक्षा में शामिल होने वाले अभ्यर्थियों में 1.5 लाख अभ्यर्थियों के सर्टिफिकेट धुंधले अपलोड मिले। आरयू ने सभी अभ्यर्थियों के सर्टिफिकेट चेक कराए तो बड़ी संख्या में ऐसे सर्टिफिकेट ऐसे मिले जिसमें डिटेल और फोटो क्लीयर नहीं दिख रहे थे। बीएड को-आर्डिनेटर बीआर कुकरेती ने ऐसे सभी अभ्यथिर्यों को दोबारा सर्टिफिकेट अपलोड कराने का फैसला लिया है। सही सर्टिफिकेट अपलोड होने के बाद भी रिजल्ट जारी किया जाएगा।

मोबाइल से फोटो खींच किया अपलोड

आरयू बीएड प्रवेश परीक्षा को-आर्डिनेटर ने बताया कि वेटेज सर्टिफिकेट के बाद अब एग्जाम में शामिल हुए सभी अभ्यर्थियों के सर्टिफिकेट की जांच चल रही है। जांच में ग्रेजुएशन की मा‌र्क्सशीट, इनकम सर्टिफिकेट, कास्ट सर्टिफिकेट और निवास प्रमाणपत्र आदि चेक किए तो वह पढ़ने में ही नहीं आ रहे थे। मंडे को भी ऐसे ही 90 हजार सर्टिफिकेट मिले हैं। कुल मिलाकर डेढ़ लाख सर्टिफिकेट धुंधले मिले हैं, जो जांच अधिकारी को पढ़ने में नहीं आ रहे है। ऐसे में अब उन्हें दोबारा अपलोड कराया जाएगा। इसके लिए आरयू की वेबसाइट 14,15 और 16 मई को ओपन की जाएगी। जिससे कि अभ्यर्थी अपना सर्टिफिकेट दोबारा अपलोड कर सकें।

वेटेज सर्टिफिकेट भी मिले थे ब्लर

बीएड के कई अभ्यर्थियों ने वेटेज सर्टिफिकेट भी ब्लर अपलोड किए थे। जांच में जब सर्टिफिकेट अधिकारियों को समझ में नहीं आए तो उन्होंने अभ्यर्थियों को दोबारा सर्टिफिकेट अपलोड करने का टाइम दिया था। आरयू ने जब वेटेज सर्टिफिकेट की जांच कराई तो 28 हजार सर्टिफिकेट ऐसे निकलने तो जांच करने वाले टीचर पढ़ ही नहीं पा रहे थे। कि सर्टिफिकेट है किसका। इसके लिए परीक्षा को-आर्डिनेटर ने धुंधले वेटेज सर्टिफिकेट को दोबारा अपलोड कराने के लिए समय दिया और दोबारा सर्टिफिकेट अपलोड कराने के बाद ही उसका अभ्यर्थी को लाभ दिया।

यह भी जानें

  •  - 6.09 लाख अभ्यर्थियों ने बीएड के लिए किया था अप्लाई
  • -15 शहरों में हुआ था एग्जाम
  • -1216 सेंटर्स पर हुआ हुआ था एग्जाम
  • -71 सेंटर्र बरेली में बनाए गए थे
  • -35,688 अभ्यर्थियों ने बरेली में दिया था एग्जाम
  • -28 हजार वेटेज सर्टिफिकेट भी दोबारा कराने पड़े थे अपलोड
  • -दोबारा सर्टिफिकेट अपलोड करने के लिए आरयू 14-16 मई तक वेबसाइट करेगा ओपन
  • -बीएड फॉर्म में अभ्यर्थियों के रजिस्टर्ड नंबर पर भेजा मैसेज

-ऐसे सभी अभ्यर्थियों के रजिस्टर्ड मोबाइल नम्बर और ईमेल पर मैसेज भेज दिए हैं। जिन अभ्यर्थियों ने बीएड का फार्म अप्लाई करते समय धुंधले सर्टिफिकेट अपलोड किए थे। अब उन्हें तीन दिन का समय दिया गया है ताकि वह सही सर्टिफिकेट अपलोड कर दें।

- प्रो। बीआर कुकरेती, प्रवेश परीक्षा समन्वयक आरयू