स्वर्ग रंगमंडल की ओर से डॉ. श्लेष गौतम की पुस्तक पर परिचर्चा व संवाद का आयोजन

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: स्वर्ग रंगमंडल की ओर से शनिवार को बाल भारती स्कूल के सभागार में डॉ. श्लेष गौतम के काव्य संग्रह 'आदमकद बौने' पर परिचर्चा व संवाद का आयोजन किया गया. मुख्य वक्ता प्रो. अली अहमद फातमी ने कहा कि श्लेष की कविताओं में संवेदना और संस्कार है. ये आदमी होने की तमीज का एहसास कराती हैं. प्रो. फातमी ने काव्य संग्रह की कई कविताओं का जिक्र भी किया. प्रो. बद्री नारायण ने कहा कि श्लेष की कविताएं समाज की एक सच्ची स्वीकृति हैं जो किसी भी कवि को जनप्रिय और सच्चा बनाती हैं.

छंद को छछंद होने से बचाया

गीतकार यश मालवीय ने कहा कि श्लेष ने छंद को छछंद होने से बचाया है, क्योंकि ये कविताएं छंद में आज के समाज का यथार्थ चित्रण करती हैं. संचालन करते हुए डॉ. श्लेष गौतम ने काव्य संग्रह की कई कविताओं का पाठ किया. इस मौके पर मनोज गुप्ता, प्रवीण शेखर, सफलता श्रीवास्तव, अजीत सिंह, राजू मरकरी आदि मौजूद रहे.