साहित्यिक संस्था संकल्प व जागृति समिति कालिंदीपुरम के संयुक्त तत्वावधान में अखिल भारतीय कवि सम्मेलन व मुशायरे का आयोजन

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: साहित्यिक संस्था संकल्प और जागृति समिति कालिंदी पुरम के संयुक्त तत्वावधान में सोमवार को नवजीवन मेडिकल परिसर में अखिल भारतीय कवि सम्मेलन व मुशायरे का आयोजन किया गया. मुख्य अतिथि पूर्व कैबिनेट मंत्री डॉ. नरेन्द्र कुमार सिंह गौर ने दीप प्रज्जवलित कर समारोह का शुभारंभ किया. सबसे पहले हास्य कवि नरकंकाल ने 'होली का त्योहार मनाइए, डिजिटल गुझिया खाइए. देश को न्यू इंडिया बनाइए, ससुराल बुलेट ट्रेन से जाइए' पंक्तियां सुनाकर श्रोताओं को हंसने पर मजबूर कर दिया.

कवियों ने सुनाई रचनाएं

शायर जावेद शोहरत ने पंक्तियां 'डाकिया समझता है खत ये किसको देना है, कोई-कोई खत यारों बे पता भी होता है' सुनाई. वाराणसी से आए कवि सलीम शिवा लवी ने 'प्यार मांगा तो बुरा मान गए, हंस कर टाला तो बुरा मान गए. रंग वह हम पर डालते ही गए, हमने डाला तो बुरा मान गए' पंक्तियां सुनाकर समां बांधा. कवि शैलेन्द्र मधुर की पंक्तियों 'योगी के रंग रंग हैं, मोदी गुलाल में. वोटर उलझ के रह गए रंगीन जाल में' पर श्रोताओं ने खूब तालियां बजाई. मंच पर प्रीता बाजपेई, अमित जौनपुरी, शाहिद सफर, नजर इलाहाबादी आदि कवियों ने अपनी पंक्तियां सुनाई. संयोजन इंजीनियर संजय शेखर पांडेय का रहा. इस मौके पर भाजपा काशी प्रांत के उपाध्यक्ष दिवाकर नाथ त्रिपाठी, पार्षद अखिलेश सिंह, उमेश चंद्र श्रीवास्तव आदि मौजूद रहे.