न्यूयॉर्क (पीटीआई)। अमेरिका में रहने वाले 21 भारतीयों को अमेरिकी अदालत ने कॉल सेंटर से अरबों रुपये का घोटाला करने के आरोप में 4-20 साल तक की सजा सुनाई है। बता दें कि अमेरिका में भारत का एक कॉल सेंटर खोला गया था, जिसमें सैकड़ों अमेरिकी नागरिकों को बेवकूफ बना कर अरबों रुपये का घोटाला किया गया। अमेरिकी अटर्न‍ि बताया कि भारतीय कॉल सेंटर में बड़े स्तर पर हुए घोटाले को लेकर यह सजा हुई है, दोषी पाए गए कुछ लोगों को सजा पूरी होने के भारत वापस भेज दिया जाएगा।

कॉल उठाने वाले को देते थे धमकियां
सरकारी वकीलों ने कहा कि भारतीय कॉल सेंटर ने बुजुर्गों और कानूनी आप्रवासियों सहित मुख्य रूप से कमजोर अमेरिकी नागरिकों को धोखा देने के लिए विभिन्न टेलीफोन धोखाधड़ी योजनाओं का इस्तेमाल किया। दरअसल, अमेरिका में स्थित इस कॉल सेंटर के ऑपरेटरर्स सभी लोगों को फोन कर धमकियां देते थे, वो उन्हें कहते थे कि अगर वो बताये गए पैसों का भुगतान नहीं करते हैं तो सरकार उन्हें गिरफ्तार कर जेल भेजने के साथ जुर्माना सहित उनके देश वापस भेज देगी। इसी डर से यूजर्स उन्हें पेमेंट करने के लिए तैयार हो जाते थे। अदालत ने बताया कि धमकियों की प्रक्रिया से पैसे कमाने का सिलसिला काफी दिनों तक चला लेकिन बाद में इसका पर्दाफाश हो गया। बता दें कि इससे पहले तीन भारतीयों को उसी धोखाधड़ी और मनी लॉंडरिंग प्लानिंग में शामिल होने के मामले में सजा सुनाई जा चुकी है।

राष्ट्रपति चुनाव में रूसी दखल के अपने बयान से पलते ट्रंप, कहा गलतफहमी के चलते हुआ ऐसा

ट्रंप के बदले सुर, कहा उत्तर कोरिया आराम से करे परमाणु नष्ट कोई जल्दबाजी नहीं

International News inextlive from World News Desk