- गुलरिहा एरिया में बुजुर्ग महिला के मर्डर का पर्दाफाश

- 40 लाख के लिए सगे बेटों, बहू ने गला दबाकर ली जान

GORAKHPUR: गुलरिहा एरिया के मदरहवा, बनगाई टोला में बुजुर्ग महिला का मर्डर सगे बेटों और बहू ने किया था। मां की हत्या के बाद बेटों और बहू ने यूपी 100 पर पुलिस को सूचना दी। घर में पहुंची पुलिस को पहले दिन ही किसी करीबी पर मर्डर का शक हुआ। लेकिन पुख्ता सबूतों के अभाव में पुलिस कार्रवाई नहीं कर सकी। हद तो तब हो गई जब पुलिस के खिलाफ दोनों बेटे शिकायत लेकर एसएसपी के पास पहुंच गए। एसएसपी को बताया कि मामूली रंजिश में पड़ोसी ने उनकी मां की हत्या की है। लेकिन गुलरिहा पुलिस रुपए लेकर पड़ोसी को बचा रही है। हालांकि पुलिस बुजुर्ग महिला का ब्रह्मभोज बीतने का इंतजार कर रही थी। एसपी नॉर्थ ने बताया कि मां के हत्यारोपी बेटों के चेहरे पर कोई शिकन नहीं थी। दोनों मां को मौत के घाट उतारकर अलमस्त थे।

भीतर से बंद था कमरा, पुलिस को हुआ शक

28 मार्च की रात गुलरिहा, मदरहवा, बनगाई टोला की बुजुर्ग महिला सोनमती की गला दबाकर हत्या कर दी गई थी। वह रात में अकेली कमरे में सो रही थीं। तभी वारदात हुई। सोनमती की बेटी किसमती की तहरीर पर अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज करके पुलिस छानबीन में जुटी थी। जांच में पता लगा कि महिला जिस कमरे में सोई थीं वहां आने-जाने के लिए सिर्फ एक दरवाजा है। घटना के समय वह भीतर से बंद था। इसलिए पुलिस को यकीन हो गया कि इसमें जरूर परिवार के सदस्यों का हाथ है। पुलिस को जानकारी मिली कि सोनमती के पति की मौत के बाद तीन हिस्सों में भूमि का वरासत हुआ था। दोनों बेटे अपने हिस्से की भूमि बेच चुके थे। मां पर भूमि बेचने का दबाव बना रहे थे।

40 लाख की सौदेबाजी में ली मां की जान

बुजुर्ग महिला के नाम से 20 डिस्मिल भूमि हुई थी। बाकी भूमि उसके बड़े बेटे राजकुमार और छोटे रोहित के नाम से हो गई। टेंपो चलाने वाले दोनों भाइयों को शराब पीने की लत है। दोनों ने मौज-मस्ती के लिए अपने हिस्से की भूमि औने-पौने दामों पर बेच दी। रुपए कम पड़ने पर दोनों ने बची हुई भूमि का सौदा 40 लाख में तय कर दिया। इसके बाद रोजाना अपनी मां पर उसके हिस्से की भूमि बेचने का दबाव बनाने लगे। मां के मना करने पर आए दिन मारपीट शुरू कर दी। दोनों भाइयों को पता था कि मां की मौत के बाद भूमि उनके नाम से हो जाएगी। इसलिए दोनों ने मां की हत्या का प्लान गढ़ा। राजकुमार की पत्‍‌नी किरन भी पति और देवर की साजिश में शामिल हो गई। तीनों ने मिलकर बुजुर्ग का गला दबा दिया। सुबह होने पर पुलिस को सूचना दी।

मुस्कुराते रहे आरोपी बेटे

जिस मां ने दोनों बेटों को पाल-पोसकर बड़ा किया था। उनकी हत्या करते हुए बेटों के हाथ नहीं कांपे। बड़े बेटे राजकुमार ने मां का गला दबाया। छोटे बेटे रोहित ने हाथ पकड़ा तो राजकुमार की पत्‍‌नी किरन ने सास के पैर पकड़कर हत्या में सहयोग किया। मां की हत्या के बाद दोनों बेटे आराम से घूमते रहे। उल्टे मामूली विवाद का बदला लेने के लिए पड़ोसियों को फंसाने का प्रयास किया। शुक्रवार को जब पुलिस ने तीनों को अरेस्ट किया तो उनके चेहरे पर कोई शिकन नहीं थी। पुलिस हिरासत में दोनों हंसते-मुस्कुराते रहे। पुलिस को ऑफर देने से नहीं हिचके। उनकी हरकत देखकर पुलिस अधिकारी भी हैरत में पड़े हुए थे।

वर्जन

बुजुर्ग महिला के दोनों बेटों और बड़ी बहू को अरेस्ट किया गया है। अपने हिस्से की भूमि बेचने को महिला तैयार नहीं थी। इसलिए तीनों ने उसे मार डाला। तीनों को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया गया है। हत्यारोपी बेटों को मां के कत्ल का कोई मलाल नहीं था। दोनों पुलिस हिरासत में हंसते-मुस्कुराते रहे।

- अरविंद पांडेय, एसपी नॉर्थ