इस्लामाबाद (पीटीआई)। पाकिस्तान सरकार और वहां के कई बड़े नेताओं ने अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर उन्हें सम्मान दिया। उन्होंने कहा कि पूर्व भारतीय प्रधानमंत्री का भारत और पाकिस्तान के द्विपक्षीय संबंधों में परिवर्तन लाने में बड़ा योगदान है। पाकिस्तान के होने वाले प्रधानमंत्री इमरान खान ने भी वाजपेयी के निधन पर शोक व्यक्त किया और कहा कि भारत-पाकिस्तान शांति के लिए उनके प्रयासों को हमेशा याद किया जाएगा। इसके अलावा पाकिस्तानी विदेश कार्यालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैजल ने कहा, 'श्री अटल बिहारी वाजपेयी के निधन की खबर सुनकर हम बहुत उदास हैं, वाजपेयी एक प्रसिद्ध राजनेता थे। उन्होंने भारत-पाकिस्तान संबंधों में बदलाव लाने में महत्वपूर्ण योगदान दिया।'

भारत ने एक बड़ा नेता खो दिया
इमरान खान ने अपने एक बयान में कहा कि वाजपेयी एक प्रमुख राजनीतिक व्यक्तित्व थे और उनकी मृत्यु से बड़ा नुकसान हुआ है। इसके अलावा पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) के अध्यक्ष शाहबाज शरीफ ने कहा कि वाजपेयी और पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने 1999 में दोनों देशों के बीच में शांति स्थापित करने का एक प्रयास शुरू किया था। उन्होंने कहा कि वाजपेयी के निधन से भारत ने एक बड़ा नेता खो दिया है। बता दें कि पूर्व पीएम भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी का लंबी बीमारी के बाद गुरुवार को एम्स में शाम 5.05 बजे निधन हो गया।

जब खाने के शौकीन अटलजी को रसगुल्‍लों से दूर रखने के लिए माधुरी दीक्षित से मिलवाया गया

कानपुर में एक ही क्‍लास में पढ़ा करते थे अटल बिहारी वाजपेयी व उनके पिता

International News inextlive from World News Desk