मामले का जल्‍द हो निपटारा
राजनीतिक संकट में सेना के दखल की आशंका के बीच गतिरोध को खत्‍म करने के प्रयास के तहत पाकिस्‍तान के पीएम नवाज शरीफ ने आज सेना प्रमुख से मुलाकात की. इस मुलाकात में दोनों ने देश में चल रहे इस राजनीतिक गतिरोध के अविलंब अंत पर सहमति जताई. सेना प्रमुख जनरल राहील शरीफ के साथ पीएम शरीफ की मुलाकात उस वक्‍त हुई, जब राजधानी इस्‍लामाबाद में इमरान खान और मौलाना ताहिर उल कादरी के नेतृत्‍व में हजारों प्रदर्शनकारी बीते कई दिनों से सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं. आपको बता दें कि प्रदर्शनकारी पीएम के इस्‍तीफे की मांग पर अड़े हैं.

सुरक्षा स्‍िथति पर चर्चा

प्रधानमंत्री कार्यालय द्वारा जारी एक बयान में कहा गया,'बैठक में वर्तमान स्थिति सहित पूरी सुरक्षा स्थिति पर चर्चा की गई. सर्वश्रेष्‍ठ राष्‍ट्र हित में वर्तमान मुद्दे को शीघ्रता से निपटाने की जरूरत पर आत सहमति थी.' सरकार ने इस बैठक के बारे में ज्‍यादा जानकारी नहीं दी, लेकिन सेना ने दोनों पक्षों से बातचीत के जरिये संकट खत्‍म करने के लिये कहा है. गौरतलब है कि कल शरीफ को इस्‍तीफा देने के लिये 48 घंटे का अल्‍टीमेटम देने वाले मौलाना कादरी ने आज चेतावनी दी कि सरकार 23 घंटे के भीतर इस्‍तीफा दे अथवा खून बहेगा.

शरीफ बंधुओं को मौत की सजा
इससे पहले कादरी ने अपने समर्थकों को संबोधित करते हुये कहा,'शरीफ बंधुओं को उनके गुनाहों के लिये मौत की सजा होनी चाहिये.' आपको बता दें कि इमरान की पार्टी पाकिस्‍तान तहरीक-ए-इंसाफ और कादरी की पार्टी पाकिस्‍तान आवामी तहरीक (पीएटी) का प्रदर्शन आज 13वें दिन में प्रवेश कर गया. प्रदर्शनकारी पिछले साल के आम चुनाव में कथित धांधली और बीते 17 जून को लाहौर में अवामी तहरीक के 14 समर्थकों की हत्‍या के मामलों को लेकर शरीफ के इस्‍तीफे की मांग कर रहे हैं. इसके साथ ही कादरी ने यह भी कहा कि,'न्‍यायिक आयोग ने साबित किया है कि 17 जून की घटना के लिये पंजाब के मुख्‍यमंत्री शाहबाज शरीफ और पंजाब सरकार जिम्‍मेदार है.'

Hindi News from World News Desk

International News inextlive from World News Desk