पंचायती निर्मल अखाड़े में निर्धारित सीमा के बावजूद भी निर्माण कार्य की फिनिशिंग ना होने पर परियोजना प्रबंधन पर की गई कार्रवाई

prayagraj@inext.co.in

PRAYAGRAJ: कुंभ के मद्देनजर प्रयागराज स्थित अखाड़ों में चल रहे स्थाई निर्माण कार्यो का निरीक्षण करने के लिए शुक्रवार को कमिश्नर डॉ. आशीष कुमार गोयल अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेन्द्र गिरि व अन्य साधु संन्यासियों के साथ निकले. डॉ. गोयल ने पंचायती निर्मल अखाड़े में पहुंचे जहां पर निर्माण कार्यो की निर्धारित समय सीमा 31 अक्टूबर तक फिनिशिंग लाइन तक न पहुंचाने के लिए और लगातार मौके पर उपस्थित रहकर काम न देखने पर सीएनडीएस की 33वीं यूनिट के परियोजना प्रबंधक को निलंबित किए जाने की कार्रवाई का निर्देश दिया.

बिजली विभाग को लगाई फटकार

निरीक्षण के क्रम में डॉ. गोयल बड़ा उदासीन अखाड़ा पहुंचे. मौके पर बिजली का पोल शिफ्ट करने के दौरान पुराना पोल पड़ा देखकर उन्होंने रामबाग डिवीजन के अधिशाषी अभियंता को फटकार लगाई. इतना ही नहीं डॉ. गोयल ने क्षेत्र में कूड़े की सफाई न होने और स्ट्रीट लाइट का काम शेष रहने पर नगर निगम के अधिकारियों के प्रति नाराजगी जाहिर की और कड़ी कार्रवाई की चेतावनी दी.

अब सीधे होगा निलंबन

अखाड़ों में चल रहे निर्माण कार्य के बाद साप्ताहिक समीक्षा बैठक में कमिश्नर डॉ. गोयल के तेवर सख्त दिखे. उन्होंने अधिकारियों से दो-टूक कहा कि जिन कार्यो को 31 अक्टूबर तक पूरा करना था उसका निरीक्षण लगातार किया जा रहा है. उसमें एक दिन की भी कमी पाए जाने पर अब सीधे अधिकारियों के खिलाफ निलंबन की कार्रवाई की जाएगी.

इन अखाड़ों का किया निरीक्षण

डॉ. गोयल व महंत नरेन्द्र गिरि की अगुवाई में जूना अखाड़ा, पंच दशनाम आवाहन अखाड़ा, उदासीन अखाड़ा, पंचायती निर्मल अखाड़ा, अग्नि अखाड़ा, निरंजनी अखाड़ा, महानिर्वाणी अखाड़ा, आनंद अखाड़ा व मठ बाघम्बरी गद्दी में चल रहे निर्माण कार्यो का निरीक्षण किया गया. इस दौरान पंचायती अखाड़ा बड़ा उदासीन के श्री महंत महेश्वर दास जी महाराज ने कमिश्नर डॉ. गोयल को तेज गति से कार्यो का निरीक्षण करने के लिए धन्यवाद भी दिया.