RANCHI :रांची लोकसभा सीट पर हुए चुनाव में पड़े वोटों की मतगणना के लिए तैयारियां पूरी हो चुकी हैं। 23 मई को सुबह 8 बजे से काउंटिंग शुरू होगी। जिला प्रशासन ने मतगणना का कार्य करने वाले कर्मचारियों और इलेक्शन एजेंट को सख्त आदेश दिया है कि जिस हाल में वोटों की गिनती की जाएगी उसके अंदर कोई भी व्यक्ति मोबाइल व अन्य इलेक्ट्रॉनिक गैजेट लेकर नहीं जाएगा। यहां तक कि पानी के बोतल हो या पान, गुटखा खैनी भी हॉल के अंदर ले जाने पर रोक रहेगी। रांची लोस सीट के सभी विधानसभा के लिए अलग-अलग काउंटिंग हाल बनाए गए हैं। सभी हाल में एक साथ वोटों की गिनती होगी, विधानसभावार हाल में टेबल लगाए गए हैं।

एक साथ होगा वोटों का मिलान

पंडरा बाजार समिति प्रांगण में बनाए बनाए गए काउंटिंग हाल में विधानसभावार वोटों की गिनती की जाएगी। रांची लोस सीट की गिनती 21 राउंड तक चलेगी। लेकिन इेस बार रांची लोस सीट पर विजयी प्रत्याशी की घोषणा होने में चार से पांच घंटे की देरी हो सकती है। क्योंकि प्रत्येक विधानसभावार पांच-पांच बूथों के ईवीएम और वीवीपैट के वोटों का मिलान होगा। मतलब रांची लोस सीट के छहों विधानसभा के कुल 30 बूथों के वीवीपैट की पर्चियों का मिलान किया जाना है। वीवीपैट की पर्चियां काफी छोटी हैं, इसलिए वोटों के मिलान में समय लगेगा।

पर्ची निकालकर बूथ होगा तय

किस विधानसभा के कौन से पांच बूथों के वीवीपैट की पर्चियों का मिलान ईवीएम में मिले वोटों से होगा यह लॉटरी सिस्टम से तय होगा। जानकारी के अनुसार एक पॉट में विधानसभा के सभी बूथों की पर्ची डाली जाएगी। इसे कैंडिडेट या इलेक्शन एजेंट के अलावा ऑब्जर्वर के सामने जिला निर्वाचन पदाधिकारी सह डीसी पर्ची निकालेंगे। प्रत्येक विधानसभा की पांच पर्चियां निकाली जाएंगी, इसमें जिन बूथों का नंबर रहेगा, उसी के वीवीपैट का मिलान किया जाएगा।