- 80 वार्डो में केवल 14 फॉगिंग मशीन, एक खराब

- नगर निगम ने शहर को 4 जोन में बांटा

आई एक्सक्लूसिव

Meerut : नगर निगम का फॉगिंग अभियान कागजों में चल रहा है. निगम के अनुसार फॉगिंग अभियान शुरू कर दिया गया है. लेकिन शहर में मच्छरों की तादात दिन प्रतिदिन बढ़ती ही जा रही है. बावजूद इसके अभी तक नगर निगम मच्छरों को मारने के लिए कोई ठोस कदम नहीं उठा रहा है.

गंदगी से मचछर

नगर निगम के शिकायत केंद्र की बात करें तो उसमें सबसे ज्यादा शिकायत गंदगी की आती है. शहरवासियों द्वारा सफाई न होने की बात कह शिकायत की जाती है. बावजूद इसके नगर निगम सफाई की ओर कोई ध्यान नहीं दे रहा है. 1 जनवरी से 31 मार्च तक नगर निगम शिकायत केंद्र पर 195 शिकायतें आई हैं. जिसमें से 145 शिकायतों का निस्तारण किया गया. 50 शिकायतों का निस्तारण होना अभी बाकी है.

दस लाख का बजट

फॉगिंग के लिए नगर निगम ने दस लाख रुपये का बजट बनाया है. जिसमें फॉगिंग के लिए दवाई, तेल, मशीन की मरम्मत आदि की जाएगी.

एंटी लार्वा की तैयारी नहीं

बेतहाशा पड़ रही गर्मी में मलेरिया होने की संभावना बढ़ जाती है. जिसको लेकर स्वास्थ्य विभाग भी अभी तैयार नहीं है. मलेरिया के बचाव के लिए अभी तक कोई दिशा निर्देश जारी नहीं किए गए हैं. न ही एंटी लार्वा छिड़काव की कोई व्यवस्था की गई है.

एंटी लार्वा और मलेरिया के लिए स्वास्थ्य विभाग की तैयारी पूरी हैं. अभी तक कोई ऐसा कोई मामला सामने नहीं आया है. एंटी लार्वा के लिए छिड़काव करने के निर्देश दे दिए हैं.

-वीके गुप्ता, सीएमएस, जिला अस्पताल

फॉगिंग को लेकर संबंधित कर्मचारियों को निर्देश जारी कर दिए हैं. हर वर्ष की तरह इस बार भी हर वार्ड में फॉगिंग मशीन के छिड़काव कराया जाएगा. शहर को 4 जोन में बांटा गया है. कुछ स्थानों पर फॉगिंग शुरू भी करा दी गई है.

-डॉ. आरएस चौहान, नगर स्वास्थ्य अधिकारी, नगर निगम

वार्ड की संख्या- 80

कुल मशीन- 14

छोटी मशीन- 11

बड़ी मशीन- 3

खराब मशीन- 1 बड़ी मशीन