-जनता के रुपये से हर वर्ष करोड़ों रेल यात्रा में खर्च कर रहे जनप्रतिनिधि

-रेलवे ने आरटीआई में दी जानकारी

ह्यह्वठ्ठद्बद्य.4ड्डस्त्रड्ड1@द्बठ्ठद्ग3ह्ल.ष्श्र.द्बठ्ठ

रुष्टयहृह्रङ्ख: देशभर के सांसदों व उनके रिश्तेदारों से अधिक यूपी के विधायक व उनकी फैमिली रेल यात्रा करती है, जिसका पैसा हमारी सरकार देती है. लखनऊ के डॉ. नीरज कुमार मिश्रा की ओर से आरटीआई के तहत मांगी गई सूचना में ये जानकारी दिल्ली स्थित नार्दन रेलवे ने दी है. पिछले करीब पांच वर्षो में यूपी के विधायकों ने सरकारी धन से करीब 69 करोड़ की रेल यात्रा की है.

सरकारी धन विधायक के परिवार का सफर

आरटीआई में दी गई जानकारी के अनुसार, यह यात्रा लोकसभा सांसदों, राज्यसभा सांसदों और यूपी के विधायकों, उनके परिवारों और साथियों ने की है. जिसके लिए केंद्र व यूपी सरकार ने रेलवे को पेमेंट किया है. रेलवे ने कहा है कि यूपी के विधायकों को रेल टिकट कूपन उपलब्ध कराए जाते हैं, जिनसे वे टिकट बुक करते हैं. बुकिंग अमाउंट को बाद में सरकार डिमांड ड्राफ्ट या चेक से भुगतान करती है.

कलकुलेटर में नहीं आती संख्या

आरटीआई के तहत जानकारी मांगने वाले डॉ. नीरज कुमार मिश्रा का कहना है कि सांसदों व विधायकों द्वारा रेल यात्रा के नाम पर किया जाने वाला खर्च इतना अधिक है कि इतनी संख्या कलकुलेटर में भी नहीं आती है. पिछले पांच वर्ष में यूपी के विधायकों ने करीब 70 करोड़ और सांसदों ने करीब 51 करोड़ की रेल यात्रा की है. इसका असर आम जनता पर पड़ता है और जनता से टैक्स अधिक वसूला जाता है.

बाक्स

यूपी के विधायक जी ने किया सफर

2013-14--- 14 करोड़

2014-15--- 13 करोड़

2015-16--- 16 करोड़

2016-17---17 करोड़

2017-अब तक-- 9 करोड़

कुल-- 69 करोड़

बाक्स

लोकसभा सांसदों का रेल किराए में खर्च

वर्ष-- लोकसभा सांसद

2013-14-11,08,80,000

2014-15-7,16,80,000

2015-16-11,12,10,000

2016-17-10,85,20,000

2017-अब तक-10,71,10,000

कुल--50,94,00,000 करोड़

बाक्स

राज्यसभा सांसदों का रेल किराए में खर्च

वर्ष-- लोक सभा सांसद-राज्यसभा सांसद

2013-14-549,70,00

2014-15-325,50,000

2015-16-4,99,60,000

2016-17-5,80,91,000

2017-अब तक-5,45,70,100

कुल--25,01,41,100 करोड़

कोट-फोटो

पब्लिक से एक-एक चीज का हिसाब लिया जाता है जबकि सांसद, विधायक जनता के टैक्स के पैसे को इस प्रकार से बर्बाद कर रहे हैं. यह सिर्फ रेलवे का डाटा है, अभी प्लेन और कार का खर्च सामने आया तो वह भी कई गुना अधिक होगा.

डॉ. नीरज कुमार मिश्रा, लखनऊ