i exclusive

- आरपीएफ का 20 किमी. तक पैदल गश्ती का दावा, सिर्फ 2 किमी. पर खड़े 13 कोचेज खाली कर गए चोर

- करोड़ों के ((Linke Hofmann Busch) से लाखों रुपए का वायर काट ले गए चोर

- अभी-अभी एनईआर को मिले थे ये कोचेज, चार फाटक पर खड़ी है इसकी रेक

GORAKHPUR: रेलवे में सुरक्षा को लेकर लगातार अलर्ट जारी हो रहे हैं और सुरक्षा एजेंसियों से लेकर फोर्सेज तक खुद को अलर्ट बता रही हैं. आरपीएफ का तो दावा है कि 20 किमी. तक पैदल गश्त कर रही है. लेकिन, रेलवे स्टेशन से सिर्फ 2 किमी. पर चार फाटक पिट के पास खड़े किए गए एलएचबी कोच को चोर खाली कर गए. यहां खड़े 13 एलएचबी कोच अभी-अभी एनईआर को मिले थे, जिन्हें जरूरत के हिसाब से ट्रेनों में लगाए जाने हैं लेकिन अब वे चलने लायक ही नहीं रह गए हैं. कोचेज से लाखों रुपए का वायर चोर काट ले गए हैं, जिस कारण इनकी मरम्मत करानी पड़ेगी.

कितने की क्षति, अभी अनुमान नहीं

चार फाटक पिट के पास खड़े 13 कोच के रेक से यह चोरी एक दिन में नहीं हुई बल्कि लगातार चोर एक्टिव रहे. इसके बाद भी रेलवे संपत्ति की सुरक्षा का दावा करने वालों को इसकी भनक तक न लगी. सुरक्षा में लापरवाही के कारण धीरे-धीरे कोच खाली होते गए. स्थिति यह है कि अब इन कोचेज की जांच के बाद ही यह पता चल सकेगा कि कितने के सामान गायब हुए हैं. लिहाजा, रेलवे प्रशासन इन कोचों को पिट में भेजकर जांच कराने की तैयारी में जुटा है.

20 दिन पहले हुई जानकारी

करीब 20 दिन पहले आरपीएफ इंस्पेक्टर के नेतृत्व में रेल सम्पत्तियों की सुरक्षा के लिए अभियान चलाया जा रहा था. इस दौरान आरपीएफ टीम ने चारफाटक स्थित पिट के पास से एक कबाड़ी को कोच के नीचे लगने वाले 60 किलो कॉपर वायर के साथ गिरफ्तार किया. पकड़े गए अभियुक्त से पूछताछ में पता चला कि बरामद तार पिट के पास खड़ी नई एलएचबी कोच से चोरी कर बेचा गया है. इसके बाद जब आरपीएफ की टीम ने इन कोचेज की जांच की तो हैरान रह गई. लाइन पर खड़े सभी 13 कोचेज के नीचे से लाखों के वायर गायब हैं. जांच के बाद 15 दिन पहले ही आरपीएफ ने रेल प्रशासन को पत्र लिखकर इसकी जानकारी दी है.

बॉक्स

हमसफर का वीआईपी कोच भी 'लुटा'

बीते दिनों एनईआर प्रशासन को एलएचबी के नए कोचेज मिले थे. एक्स्ट्रा बचे 13 कोचेज को रेलवे प्रशासन ने चारफाटक स्थित पिट के पास रखा था. जिसे जरूरत के अनुसार विभिन्न ट्रेंस में लगाए जाने थे. इन कोचेज में एक हमसफर ट्रेन का वीआईपी कोच भी शामिल है. चोरों ने इस कोच के नीचे से भी कीमती सामान गायब कर दिया.

वर्जन