-एयरपोर्ट पर आरके सिन्हा के समर्थकों ने रविशंकर को दिखाया काला झंडा

PATNA : मंगलवार को पटना एयरपोर्ट उस समय अखाड़ा तबदील हो गया। जब राज्यसभा सांसद सह केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद के समर्थकों के बीच जमकर लात-घूंसे चलने लगे। पुलिस के हस्तक्षेप के बाद मामला शांत हुआ। दोनों तरफ से किसी ने भी थाने में शिकायत नहीं की है.पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार मंगलवार को आरके सिन्हा और पटना साहिब से बनाए गए बीजेपी के कैंडिडेट रवि शंकर प्रसाद दिल्ली से पटना एयरपोर्ट पर उतरे। दोनों नेताओं के समर्थक वहां पर मौजूद थे। रविशंकर प्रसाद जब बाहर निकल रहे थे। इसी दौरान आरके सिन्हा के समर्थकों ने रविशंकर वापस जाओ का नारा लगाने लगे। साथ ही उन्हे काला झंडा भी दिखाया गया। इसके बाद दोनों नेताओं के समर्थक आपस में भिड़ गए। फिर क्या था रविशंकर प्रसाद के समर्थकों ने आरके सिन्हा के समर्थकों को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा। बाद में पुलिस के हस्तक्षेप के बाद मामला किसी तरह शांत हुआ। मारपीट के पीछे सूत्रों का कहना है कि रवि शंकर प्रसाद को पटना साहिब से बीजेपी के कैंडिडेट बनाए जाने को लेकर आरके सिन्हा के समर्थक नाराज थे। इस कारण एयरपोर्ट दोनों के समर्थक भिड़ गए।

मरते दम तक पार्टी में रहूंगा

इधर घटना के बाद बीजेपी के राज्यसभा सांसद आरके सिन्हा ने पटना एयरपोर्ट पर केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद के खिलाफ नारेबाजी कर रहे कार्यकताओं को उनका समर्थक बताए जाने का खंडन किया है। उन्होंने कहा कि कार्यकर्ता पार्टी के होते हैं, न कि किसी व्यक्तिविशेष के। मैं उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री रमेश पोखरियाल निशंक के नामांकन में आया हुआ हूं। टीवी चैनल के माध्यम से घटना की जानकारी मिली। मैं 1966 से जनसंघ का कार्यकर्ता हूं। बीजेपी का संस्थापक सदस्य हूं। मरते दम तक पार्टी में रहूंगा। सिन्हा ने कहा कि आरोप-प्रत्यारोप से बचते हुए सभी को नरेंद्र मोदी को दोबारा प्रधानमंत्री बनाने के लिए संकल्पित होना चाहिए। दरअसल हुआ ये था कि मंगलवार को रविशंकर प्रसाद दिल्ली से पटना पहुंचे थे। स्वागत के लिए सैकड़ों कार्यकर्ता एयरपोर्ट पर फूल-माला लेकर पहुंचे थे। उसी बीच एयरपोर्ट पर बीजेपी नेता आरके सिन्हा के दर्जनों समर्थक भी पहुंच गए थे। जैसे ही केंद्रीय मंत्री एयरपोर्ट से बाहर निकले, उनके समर्थक नारेबाजी करने लगे। इसी बीच आरके सिन्हा के समर्थकों ने रविशंकर प्रसाद को काला झंडा भी दिखाया।